नकली शराब पीने से 18 लोगों की मौत

अहमदनगर, महाराष्ट्र/विनायक  नन्नवरे : अहमदनगर जिले के पांगरमल गांव में बड़ा दारू कांड। इस दारू कांड होने की वजह से 18 लोगों की मौत, 11 लोगों को गंभीर बाधा, 2 लोग हमेशा के लिए अंधे, और एक व्यक्ति को पॅरलेसीस हुआ। अब तक अहमदनगर के पांगरमल गांव में 9 लोग और अन्य गांवों से 9 लोग कुल 18 लोग मरने की खबर आई है। इलेक्शन में मतदारों को प्रभावित करने के लिए दि गई मेजबानी। नकली दारू बनाने का अड्डा अहमदनगर जिले के सरकारी अस्पताल को ही बना डाला था एक नकली दारू बनाने का अड्डा में कुछ फिट कि दूरी पर कैंटीन है। इस कैंटीन को ही नकली दारू बनाने का अड्डा बना डाला। इस कैंटीन में रोज देशी विदेशी हजारों लीटर कि दारू बनाकर सप्लाई कि जाती थी और हैरान करने वाली बात ये है कि यहां से उसी जिला रूग्णालय के एरिया में 40 फिट कि दूरी पर पुलिस स्टेशन है। इस मामले में पुलिस कि छापें मारी में पाया गया कि मेजबानी में जो नकली दारू बांटी गई वो इसी अस्पताल के कैंटीन से ही खरीदी गई थी। पुलिस और अन्य अधिकारीयो के इस छापें मारी में बनावटी दारू तैयार करने के सामान को जप्त किया गया है। इस से ये साबित हुआ के इस कैंटीन में ही नकली दारू तैयार होती थी। इस हादसे में अब तक 18 लोग गिरफ्तार हुए हैं और एक आरोपी फरार बताया जा रहा है। इन गुनहगारो में से एक आरोपी है जो के नकली दारू तैयार करने के लिए लगने वाला अल्कोहल, स्पिरिट सप्लाई करता था। ये जो स्पिरिट हैं जो के मानवी शरीर के लिए आती घातक है। ये स्पिरिट उल्हासनगर मुंबई के पास से आता था जो एक बनावटी और अलग प्रकार का द्रव्य ( इसेन्स) रंग पानी सा जो के मानवी शरीर के लिए आती घातक है। ऐसे टैंकर अहमदनगर जिले में रोजाना भरकर आते थे और गुनहगार उन्हें चाहें जीतना अल्कोहल निकालते थे। इस दारू कांड के हादसे को हुए अब तक दो महिने हो गए है। 13-02-2017 को यह हादसा हुआ था। इस हादसे में मरने वाले लोग अपने घर में बड़े और कमाने वाले थे। इस केस में आरोपी योकां जामीन औरंगाबाद कोर्ट ने खारिज कर दिया। आगे की कार्यवाही सी.आई.डी. से हो ऐसी मांग हों रही थी। वो अब पूरी हो गई।

Share This Post

Post Comment