जिला पंचायत अध्यक्ष की गाड़ी का कटा चालान, लाल बत्ती बनी वजह

जिला पंचायत अध्यक्ष की गाड़ी का कटा चालान, लाल बत्ती बनी वजह

वाराणसी, उत्तर प्रदेश/उदय सिंहः सरकार के लालबत्ती पर रोक के आदेश के बाद से उसका अनुपालन भी प्रशासन द्वारा सख्ती से कराया जाने लगा है। इसका सबसे बड़ा उदहारण पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में देखने को मिला। एसएसपी कार्यालय के बाहर खड़ी एक लालबत्ती लगी सफारी गाड़ी पर लगा काला शीशा हटाने के बाद उसका चालान कर दिया गया। वहां मौजूद लोगो को हैरत तब हुआ जब पता चला कि वाहन जिला पंचायत अध्यक्ष व सपा नेत्री अपराजिता सोनकर की थी। जानकारी के अनुसार जब एसएसपी नितिन तिवारी अपने कार्यालय से गुजर रहे थे तभी उन्होंने देखा कि वहां समीप में एक गाड़ी खड़ी है जिस पर लाल बत्ती के साथ तिरंगा झंडा लगा हुआ था। जिसके बाद उन्होंने लाल बत्ती लगी गाड़ी की जांच करने के बाद कैंट इंस्पेक्टर को गाड़ी का चालान काटने का निर्देश दिया। एसएसपी नितिन तिवारी ने कहा कि गाड़ी पर काला शीशा लगा हुआ था और तिरंगा झंडा भी लगा हुआ था। जो नियम विरुद्ध है जिस पर कार्रवाई की गयी है। एसएसपी ने लाल बत्ती गाड़ी को टोचन कर पुलिस लाइन ले जाने का आदेश भी दिया। वहीं जिला पंचायत अध्यक्ष अपराजिता सोनकर ने कहा कि वो अपना वाहन खड़ा कर अपने कार्यालय गयी थी और उन्हें पता ही नहीं कि उनकी गाड़ी का चालान क्यों काटा गया है।

Share This Post

Post Comment