आतंकियों पर कड़े एक्शन लेने से हमें चीन का वीटो भी नहीं रोक सकताः अमेरिका

अंतर्राष्ट्रिय/नगर संवाददाताः आतंकियों के प्रति अमेरिका का अपना सख्त रुख बरकरार है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन ने कहा है कि अगर कोई देश संयुक्त राष्ट्र में आतंकियों पर प्रतिबंध लगाने पर वीटो भी करता है तो उस स्थिति में भी अमेरिका आतंकियों पर कड़ी कार्वाई करेगा। अमेरिका ने यह बयान ऐसे वक्त में दिया है, जब भारत की लगातार कोशिशों के बाद यूएन द्वारा पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने की दिशा में चीन लगातार रोड़े अटका रहा है। संयुक्त राष्ट्र में यूएस की एम्बेसडर निक्की हेली ने भारत-पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता करने की भी बात कही। एक सवाल के जवाब में हेली ने कहा- “यह बिलकुल सही है कि ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन भारत और पाकिस्तान के बीच रिलेशन को लेकर चिंता रखता है। हम चाहते हैं कि किसी भी विवाद को आगे बढ़ने से रोकने में हम किस तरह का रोल निभा सकते हैं। मुझे उम्मीद है कि अमेरिकी सरकार दोनों देशों से बातचीत करेगी और तनाव को कम करने के लिए कोशिशें करेगी। हमें नहीं लगता कि कुछ होने तक हमें इंतजार करना चाहिए।” यूएन के लिए अमेरिकी राजदूत निकी हेली ने अप्रैल महीने के लिए सिक्यॉरिटी काउंसिल की प्रेजिडेंट का पद संभालने के बाद पत्रकारों से बातचीत की। उन्होंने कहा कि जिन कुछ चीजों पर चर्चा की गई हैं, उनमें प्रतिबंध और लिस्ट में शामिल लोग भी हैं। निकी से यूनाइटेड नेशंस सिक्यॉरिटी काउंसिल की प्रतिबंधित लिस्ट में आतंकवादियों को शामिल करने से जुड़ी कोशिशों के बारे में पूछा गया था। चीन का बिना नाम लिए इस बात का भी जिक्र किया गया कि किस तरह सुरक्षा परिषद के कुछ स्थाई सदस्य वीटो पावर का इस्तेमाल करके इन कोशिशों को नाकाम कर रहे हैं।

Share This Post

Post Comment