सत्यवती कॉलेज की अव्यवस्थाओं के कारण, छात्रों द्वारा जोरदार धरना प्रदर्शित

नई दिल्ली/देव प्रभाकर पांडे : दिल्ली विश्वविद्यालय के सत्यवती कॉलेज में बुनियादी सुविधाओं के अभाव एवं अव्यवस्था के चलते छात्र-छात्राओं ने कॉलेज प्रशासन के खिलाफ सैकड़ों की तदाद में जोरदार धरना प्रदर्शन किया। यह प्रदर्शन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के बैनर तले आयोजित हुआ।
काबिल-ए-गौर है कि पिछले वर्ष भी वाटर-कूलर, सीसीटीवी कैमरा, कैंटीन आदि की समस्याओं को लेकर छात्रों ने विरोध की समस्याओं को लेकर छात्रों ने विरोध प्रदर्शन किया था। परिणामस्वरूप कॉलेज-प्रशासन ने छात्रों की समस्याओं को स्वीकार करते हुए उसके निस्तारण व आश्वासन दिया था। कॉलेज-प्रशासन ने जो कदम उठाए वह निष्फल साबित हुए। मसलन वाटर-कूलर व आर. ओ. की व्यवस्था हुई किंतु वह 10 दिन से अधिक सुचारू रूप से न चल सकी।

WhatsApp Image 2017-04-03 at 11.59.11 AM

वर्तमान में पीने योग्य जल का काफी टोटा है। ऐसा ही कुछ हाल केंद्रीय का रहा। केंद्रीय का टेण्डर तो बदला गया लेकिन खाद्य-पदार्थो की गुणवत्ता में कोई संतोषजनक सुधार न हो सका। इन सब समस्याओं से क्षुब्ध होकर छात्र पुनः कॉलेज प्रशासन के खिलाफ लामबंद हो गए। छात्रों ने दिव्यांग छात्रों के सहयोग के लिए कॉलेज-प्रशासन से विशेष स्टाफ प्रदान करने की भी मांग रखी। छात्रों के प्रदर्शन को देखते हुए कॉलेज के प्रिंसिपल श्री केशव गुप्ता पहुंचे। उन्होने छात्रों से संवाद तो किया। लेकिन दिव्यांग छात्रों के सहयोग से स्टाफ मुहैया कराने में असमर्थता जताई। दूसरी तरफ वाटर-कूलर, केंटिन आदि से जुड़ी समस्याओं के निस्तारण के लिए उन्होंने 10 दिन का समय मांगा है। उनके इस आश्वासन पर छात्रों ने फिलहाल अपने प्रदर्शन को समाप्त कर दिया है। साथ ही छात्रों ने कॉलेज-प्रशासन को अवगत कराया कि यदि 10 दिन के निस्तारण न हुआ तो विरोध प्रदर्शन का स्वरूप और विशाल होगा। इस विरोध-प्रदर्शन को नेतृत्व सत्यवती कॉलेज के छात्र कृष्ण मोहन सिंह ने किया। इसके साथ ही विक्रम सिंह तोमर, अपूर्व यादव आदि की महत्वपूर्ण भूमिका में कॉलेज के सैकड़ो छात्र-छात्राओं ने शामिल होकर विरोध-प्रदर्शन को मजबूती प्रदान की।

Share This Post

Post Comment