छेड़खानी के आरोप में बीजेपी एमएलसी लालबाबू प्रसाद निलंबित

पटना, बिहार/नगर संवाददाताः लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) की विधान पार्षद नूतन सिंह के साथ छेड़खानी के मामले में कार्रवाई करते हुए बीजेपी ने अपने एमएलसी लालबाबू प्रसाद को पार्टी से निलंबित कर दिया है। इससे पहले कल हुई पार्टी की कार्यकारिणी बैठक में उन्हें पार्टी के सभी पदों से भी हटा दिया गया था। उनकी सदस्यता पर भी काले बादल मंडराने लगे हैं। हो सकता है पार्टी उनकी सदस्यता भी समाप्त कर दे। लालबाबू प्रसाद विधानपरिषद के प्रदूषण समिति के अध्यक्ष पद पर भी काबिज थे, उनपर की गई कार्रवाई के बाद उन्हें इस पद से भी हटा दिया गया है।  महिला के साथ दुर्व्यवहार की मामले की जांच विधान परिषद की आचार समिति करेगी और विधानपरिषद में लगे सीसीटीवी कैमरे से भी फुटेज लेकर देखा जा सकता है कि असल में क्या हुआ था। नूतन सिंह सुपौल जिले के छातापुर क्षेत्र के विधायक और बीजेपी नेता नीरज बबलू की पत्नी हैं। नूतन ने छेड़खानी मामले में विधान परिषद के सभापति के अलावा बीजेपी के राष्ट्रीय नेताओं तक से घटना की शिकायत की थी। मामले ने उस समय तूल पकड़ा जब बुधवार को बीजेपी के दोनों नेता नीरज बबलू और लालबाबू सदन की लॉबी में भिड़ गए थे। चश्मदीदों के मुताबिक, लालबाबू ने नूतन सिंह का किसी वजह से हाथ पकड़ लिया था। नीरज को जब इसकी जानकारी मिली तो सदन में आकर लालबाबू की जमकर धुनाई कर दी। मामले में शिकायत के बाद विवाद बढ़ता देख बीजेपी ने लालबाबू को पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष पद से हटा दिया था। हार विधान परिषद में बुधवार की शाम भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के एक विधायक और अपनी ही पार्टी के विधान पार्षद (एएलसी) के बीच हुई कथित मारपीट की घटना के बाद राजनीति गर्म हो गई है। राज्य के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने भाजपा नेतृत्व से ऐसे नेताओं पर कार्रवाई की मांग की है। इस मामले में राजद और जद (यू) के नेताओं ने गुरुवार को इस मामले को लेकर लालबाबू पर कार्रवाई करने की मांग की थी। विधानसभा में संवाददाताओं से बातचीत करते हुए उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि यह घटना सदन में हुई है और सभी ने देखा है। भाजपा के नेता सुशील मोदी इस मामले को दबाने और आरोपी को बचाने का काम कर रहे हैं। तेजस्वी ने कहा, “बिहार विधानमंडल के इतिहास में यह पहली घटना है जब किसी विधायक ने महिला विधान पार्षद के साथ छेड़छाड़ की हो और पूरे मामले को भाजपा दबाने की कोशिश में लगी है। हम इस मुद्दे को सड़क से सदन तक ले जाएंगे और विधान पार्षद लालबाबू प्रसाद पर कड़ी कार्रवाई करवाएंगे।” जद (यू) के विधान पार्षद नीरज कुमार ने कहा कि विधान परिषद के 100 साल के इतिहास में पहली बार ऐसी घटना घटी है, जिसकी कितनी भी निंदा की जाए कम है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में ‘एंटी रोमियो स्क्वायड’ बनाने वाली पार्टी को पहले अपने दल में एंटी रोमियो स्क्वायड बनाना चाहिए तथा पार्टी नेतृत्व को संज्ञान लेते हुए लालबाबू को पार्टी से हटाना चाहिए। इधर, भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी ने इस घटना को बेबुनियाद बताया है। उन्होंने कहा, “इस मामले में मुझे न कोई शिकायत मिली है और न ही सूचना मिली है, जब सूचना मिलेगी तब पार्टी अवश्य देखेगी।” इस बीच विधान परिषद के सभापति अवधेश नारायण सिंह ने भी कहा कि उन्हें अब तक किसी के द्वारा इस तरह की लिखित या मौखिक शिकायत नहीं मिली है।

Share This Post

Post Comment