योगेंद्र यादव को झटका, हाईकोर्ट ने ठुकराई समान चुनाव चिन्ह की मांग वाली याचिका

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः आम आदमी पार्टी से अलग होकर अपनी नई पार्टी स्वराज इंडिया के जरिए दिल्ली नगर निगम चुनाव में उतरे योगेंद्र यादव को आज दिल्ली हाईकोर्ट से उस वक्त तगड़ा झटका लगा, जब कोर्ट की ओर से उनकी समान चुनाव चिन्ह की मांग वाली याचिका को ठुकरा दिया गया। चुनाव आयोग ने यादव की इस मांग को पहले ही मानने से इन्कार कर दिया था। जिसके खिलाफ योगेंद्र यादव की ओर से दिल्ली होईकोर्ट में एक याचिका दाखिल की गयी। लेकिन यहां से भी उन्हें को कोई राहत नहीं मिली। मामले की सुनवाई के दौरान जस्टिस बदर दुरेज अहमद और वीके राव की बेंच के समक्ष आयोग की ओर से पेश हुए वकील सुमित पुष्करन ने कहा कि चुनाव आयोग के पास पंजीकृत लेकिन गैरमान्यता प्राप्त दलों को समान चुनाव चिंन्ह देने का कोई अधिकार नहीं है। दिल्ली नगर निगम चुनाव नजदीक है, ऐसे में कोर्ट का फैसला योगेंद्र यादव की चुनाव तैयारियों को प्रभावित कर सकता है। पार्टी की ओर से तीनों निगमों के लिए ज्यादातर बता दें कि दिल्ली नगर निगम की सभी 272 सीटों पर 23 अप्रैल को चुनाव होगा। जबकि मतगणना 26 अप्रैल को होगी। दिल्ली नगर निगम के इस बार के दिल्ली नगर निगम चुनाव में पहली बार आम आदमी पार्टी, स्वराज इंडिया, एआईएमआईएम और जन रक्षा पार्टी अपनी किस्मत आजमा रही हैं।

 

Share This Post

Post Comment