दिल्ली को साफ व सुंदर बनाने के लिए कांग्रेस ने पेश किया रोडमैप

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः दिल्ली को साफ व सुंदर बनाने के लिए कांग्रेस ने रोडमैप पेश किया है। दिल्ली से लैैंडफिल साइट खत्म कर छोटे-छोटे कूड़ा निस्तारण संयंत्र लगाए जाएंगे। जनता की भागीदारी से स्वच्छता अभियान चलाया जाएगा। बेहतर सफाई व्यवस्था करने वाले वार्डों और औद्योगिक इकाइयों को ईनाम भी मिलेगा। नगर निगम चुनाव जीतने पर तीन महीने के अंदर अस्थाई सफाई कर्मचारियों को नियमित करने का भी कांग्रेस ने वादा किया है। कांस्टीट्यूशन क्लब में आयोजित कार्यक्रम में पूर्व केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश तथा दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन ने स्वच्छ दिल्ली का रोडमैप पेश किया। उन्होंने कहा कि प्रत्येक वार्ड को मानसून से पहले निश्चित संख्या में पौधे लगाने होंगे। इसका पालन नहीं करने वाले वार्ड के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल द्वारा पॉलिथीन बैग पर लगाए गए प्रतिबंध का सख्ती से पालन होगा। भीड़ वाली जगहों पर प्रत्येक 750 मीटर पर हरे व नीले रंग के कूड़ेदान लगाए जाएंगे। माकन ने कहा कि दिल्ली में प्रतिदिन 9000 मीट्रिक टन से ज्यादा कूड़ा निकलता है। इसमें से 40 फीसद कूड़ा नरेला, बवाना, भलस्वा, ओखला तथा गाजीपुर की लैंडफिल साइट पर डाला जाता है। लैंडफिल साइट के आसपास के रहने वाले लोगों के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है। इसलिए इन्हें खत्म करना होगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस चुनावी लाभ के लिए झूठे वादे नहीं करना चाहती है। दिल्ली में विश्वस्तरीय अच्छी आदतों को लागू किया जाएगा जिससे कि इसे विश्वस्तरीय शहर बनाया जा सके।जयराम रमेश ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वच्छ भारत अभियान यूपीए सरकार के निर्मल भारत अभियान का ही विस्तार है। उन्होंने कहा कि किसी भी योजना को लागू करने के लिए तीनों नगर निगमों को पूरी तरह आत्मनिर्भर बनाना जरूरी है। इसके लिए भी कांग्रेस ने पिछले दिनों रोडमैप भी पेश किया है। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार ने डेंगू व चिकनगुनिया से बचाव के लिए केंद्र द्वारा दी गई राशि को खर्च नही किया है। इसका खामियाजा दिल्ली के लोगों को भुगतना पड़ रहा है।

Share This Post

Post Comment