सीएम बनते ही योगी के इन 10 फैसलों ने मचाई हलचल

लखनऊ, उत्तर प्रदेश/नगर संवाददाताः योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश का सीएम बनने के साथ ही ताबड़तोड़ फैसलों की झड़ी लगा दी। 19 मार्च को शपथ लेने के बाद इतनी तेजी से लिए गए फैसलों ने सभी को हैरान कर दिया है। यूपी में जनता ने भारतीय जनता पार्टी को प्रचंड बहुमत दिया है। योगी चाहते हैं कि अब जनता को बदलाव भी दिखे। सीएम की शपथ लेने के बाद से योगी ने क्या 10 बड़े फैसले लिए जानते हैं—

  • 1. सीएम योगी ने सबसे पहला फरमान ये जारी किया कि सभी मंत्री अपनी संपत्ति का ब्यौरा देंगे। 15 दिनों के भीतर मंत्रियों को अपनी संपत्ति घोषित करनी होगी। सीएम ने सरकारी अफसरों पर भी यही नियम लागू किया है।
    2.योगी सरकार का सबसे बड़ा फैसला रहा अवैध बूड़चखानों पर बैन लगाने का। योगी के सत्ता संभालते ही अवैध बूचड़खानों पर बड़े पैमाने पर कार्रवाई शुरू हो गई। हफ्ते भर के भीतर ही सैंकड़ों अवैध बूचड़खानों पर प्रशासन ने ताला ठोंक दिया। कार्रवाई के विरोध में यूपी के मीट विक्रेता हड़ताल पर चले गए हैं।
    3. एंटी रोमियो स्क्वॉड का गठन भी एक बड़ा फैसला रहा। योगी के सीएम बनते ही इसका गठन हो गया और इसने काम करना शुरू कर दिया। स्कूल-कॉलेजों, सार्वजनिक स्थानों, पार्कों के बाहर लड़कियों को छेड़ने वालों पर नकेल कसी गई। इन्हें सार्वजनिक रूप से शर्मसार भी किया गया। हालांकि पुलिस पर ज्यादती के आरोप भी लगे।
    4. सरकारी दफ्तरों, स्कूल-कॉलेजों में गुटखा, पान-मसाला पर बैन के फैसले ने भी सुर्खियां बटोरीं। लखनऊ में लोकभवन का औचक निरीक्षण करने के बाद सीएम योगी ने ये आदेश सुनाया।
    5. सीएम की कुर्सी संभालते ही अपनी पहली बैठक में योगी आदित्यनाथ ने सभी अफसरों को स्वच्छता-ईमानदारी की शपथ दिलाई। इसका असर साफ दिखा और योगी सरकार के मंत्रियों ने भी अपने स्टाफ को ऐसी ही शपथ दिलाई। कुछ मंत्री, अधिकारी तो खुद हाथ में झाड़ू लेकर सफाई करते दिखे।
    6. किसी तरह की गलतबयानी के चलते सरकार की किरकिरी ना हो इसके लिए सीएम योगी ने दो प्रवक्ता नियुक्त कर दिए। उन्होंने बाकी मंत्रियों-नेताओं को किसी तरह का बयान न देने की हिदायत दी। प्रवक्ता का जिम्मा सिद्धार्थनाथ सिंह और श्रीकांत शर्मा को दिया गया।
    7. सत्ता संभालते ही योगी सरकार ने भ्रष्ट पुलिसकर्मियों पर गाज गिरानी शुरू कर दी। अब तक सौ से ज्यादा दागी पुलिसकर्मी सस्पेंड किए जा चुके हैं। अकेले गाजियाबाद से ही करीब 40 और नोएडा से 20 पुलिसकर्मी सस्पेंड किए गए।
    8. योगी सरकार ने गो हत्या-गो तस्करी पर सख्त एक्शन लेते हुए अधिकारियों से इस पर पूरी तरह रोक लगाने का आदेश सुनाया। उन्होंने अधिकारियों से इस पर ब्लूप्रिंट तैयार करने को कहा।
    9.एक बड़ा फैसला योगी सरकार ने सरकारी कर्मचारियों की दफ्तर में उपस्थिति को लेकर लिया। योगी ने आदेश दिया कि सरकारी दफ्तरों में जल्द से जल्द बायोमैट्रिक अटेंडेस दर्ज और कर्मचारी-अधिकारी सुबह 9.30 बजे तक दफ्तर पहुंच जाएं।
    10. योगी सरकार ने हज यात्रा की तर्ज पर कैलाश मानसरोवर की यात्रा के लिए श्रद्धालुओं को 1 लाख रुपये देने का ऐलान किया। साथ ही एक विश्राम भवन बनाने का भी ऐलान किया जहां यात्री ठहरकर अपनी आगे की यात्रा को अंतिम रूप दे सकें।

Share This Post

Post Comment