पीएम मोदी की तरफ से अजमेर शरीफ पर चादर चढ़ाएंगे केंद्रीय मंत्री नकवी

अजमेर, राजस्थान/नगर संवाददाताः शांति और सांप्रदायिक सौहार्द के पैगाम के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज प्रसिद्ध अजमेर शरीफ दरगाह पर चादर भेजी। मोदी ने केन्द्रीय अल्पसंख्यक मामलों के राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी तथा कार्मिक और पेंशन मंत्री डॉ जितेंद्र सिंह को चादर सौंपा। आपको बता दें कि आज ही ख्वाजा मोईनुद्दीन हसन चिश्ती के 805वें उर्स का झंडा दरगाह के बुलंद दरवाजे पर चढ़ाया जाएगा। इसके साथ ही उर्स की अनौपचारिक शुरूआत हो जाएगी। हालांकि औपचारिक रूप से उर्स की शुरूआत 28 मार्च को रजब का चांद दिखने के बाद होगी। उर्स को लेकर प्रशासन ने तैयारियां पूरी कर ली हैं। सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं और पहली बार ड्रोन से यहां चप्पे-चप्पे पर नजर रखी जाएगी। ख्वाजा के उर्स में शामिल होने के लिए दुनियाभर से जायरीन अजमेर पहुंच रहे हैं। शुक्रवार को अर्स की नमाज के बाद लंगर खाना गली स्थित दरगाह गेस्ट हाउस से झंडे के जुलूस की शुरुआत होगी। भीलवाडा के गौरी परिवार के सदस्य यह झंडा लेकर चलेंगे। गाजे-बाजे और सूफियाना कलामों के बीच यह जुलूस लंगर खाना गली, नला बाजार और दरगाह बाजार होते हुए दरगाह पहुंचेगा और झंडा दरगाह के बुलंद दरवाजे पर चढ़ाया जाएगा। इसके बाद में गौरी परिवार अकीदत का नजराना ख्वाजा साहब की मजार पर पेश करेगा। इसके बाद रजब का चांद दिखने पर 28 मार्च से उर्स की धार्मिक गतिविधियां शुरू हो जाएंगी। जायरीनों के लिए आठ अस्थाई रैन बसेरे ख्वाजा के उर्स में आने वाले जायरीन की सुविधा के लिए अजमेर विकास प्राधिकरण ने कायड़ विश्रामस्थली में 8 अस्थाई रैन बसेरे बनाए हैं। इसके अलावा विश्राम स्थली में दो अस्थाई नमाज स्थल भी बनाए जाएंगे। उर्स में विभिन्न राज्यों व शहरों से आने वाली जायरीनों की बसों तथा अन्य वाहनों को विश्रामस्थली के बाहर ही खड़ा किया जाएगा। इसके लिए 80 बीघा भूमि को समतल किया गया है। टोकन नंबर के जरिए वाहनों को पार्किंग मिलेगी। उर्स के लिए चलेंगी 100 बसें उर्स के लिए राजस्थान रोडवेज 100 अतिरिक्त बसें चलाएगा। इसके अलावा रेलवे ने भी 40 स्पेशल ट्रेनें चलाने की तैयारी की है। पुलिस के सा़ढे चार हजार जवान और दो ड्रोन उर्स में सुरक्षा व्यवस्था संभालने के लिए सा़ढे 4 हजार पुलिस अधिकारी और जवान तैनात किए गए हैं। पहली बार ड्रोन से पूरे दरगाह और आसपास के क्षेत्रों में नजर रखी जाएगी। इनके जरिए दरगाह और आस-पास के पूरे क्षेत्र पर क़़डी नजर रखी जाएगी। दरगाह परिसर में सीसीटीवी कैमरों से जहां असामाजिक तत्वों और भी़ड पर निगरानी रखी जाएगी। पाकिस्तान से आएंगे 506 जायरीन इस बार ख्वाजा साहब के उर्स में 506 पाकिस्तानी जायरीन आएंगे।

 

Share This Post

Post Comment