सीधे किसानों के खाते में जाएगी गेहूं बिक्री की रकम

लखनऊ, उत्तर प्रदेश/नगर संवाददाताः राजधानी में गेहूं खरीद की प्रक्रिया एक अप्रैल से शुरू कर दी जाएगी। इसके लिए विभिन्न ब्लॉकों में 30 क्रय केंद्र खोले गए हैं। इस बार गेहूं बेचने वाले किसानों के खाते में विक्रय की रकम सीधे भेजने की व्यवस्था की गई है। डीएम जीएस प्रियदर्शी ने बताया कि किसानों के खाते में रकम आरटीजीएस और एनईएफटी के जरिए भेजा जाएगा, इसीलिए गेहूं विक्रय करने वाले किसानों को किसी राष्ट्रीय बैंक में अकाउंट खुलवाने का सुझाव दिया गया है। कलेक्ट्रेट के डॉ. अब्दुल कलाम सभागार में बुधवार को डीएम जीएस प्रियदर्शी ने गेहूं की खरीद की तैयारियों के लिए संबंधित विभाग के अफसरों के साथ बैठक की। डीएम ने बताया कि 1 अप्रैल से गेहूं की खरीद की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। गेहूं की खरीद में इस बार का परिवहन दर भी निर्धारित कर दिया गया है। 20 किमी. तक 972 रुपये प्रति 100 कुन्तल, 20 से 50 किमी. तक 32 रुपये प्रति 100 कुन्तल, 50 से अधिक 30 रुपये प्रति 100 कुन्तल प्रति किमी. का रेट निर्धारित किया गया है। डीएम ने बताया कि इस साल गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य 1625 रुपये प्रति कुन्तल निर्धारित किया गया है। इस साल गेहूं के मूल्य का भुगतान आरटीजीएस/एनईएफटी के माध्यम से सीधे खाते में करने के निर्देश दिए गए हैं।

Share This Post

Post Comment