देशभर में 279 तकनीकी संस्थान और 23 विश्वविद्यालय फर्जी, दिल्ली सबसे आगे

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः देश की राजधानी दिल्ली में 66 फर्जी कॉलेज हैं जो कि देश में किसी भी राज्य के मुकाबले सबसे अधिक हैं। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) और अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) की रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है। रिपोर्ट के मुताबिक, देशभर में 279 फर्जी तकनीकी संस्थान और 23 फर्जी विश्वविद्यालय हैं। इनमें से सात फर्जी विश्वविद्यालय दिल्ली में हैं। दिल्ली के अलावा तेलंगाना, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र में भी ऐसे संस्थानों की संख्या अधिक है। यूजीसी और एआईसीटीई की रिपोर्ट में बताया गया है कि ऐसे संस्थान स्टूडेंट्स के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं क्योंकि इन्हें डिग्री देने का अधिकार नहीं है। इस तरह के संस्थानों से जारी किये गए शैक्षणिक प्रमाण-पत्र एक कागज के टुकड़े से ज्यादा कुछ नहीं है। यूजीसी और एआईसीटीई ने देशभर के कॉलेज और विश्वविद्यालय की पड़ताल कर एक सालाना रिपोर्ट जारी की है। इस रिपोर्ट के आधार पर यूजीसी और एआईसीटीई ने पिछले महीने फर्जी संस्थानों की लिस्ट अपनी वेबसाइट पर जारी की थी। इसमें स्टूडेंट्स को चेतावनी भी दी गई थी कि वे अगले सेशन में एडमिशन लेने से पहले सतर्क रहें। एक अधिकारी ने बताया कि हमने ऐसे फर्जी संस्थानों की लिस्ट संबंधित राज्यों के अधिकारियों को भेजी है। उन्हें ऐसे संस्थानों पर कार्रवाई करने को कहा गया है। उन्होंने बताया कि अखबारों में विज्ञापन जारी कर स्टूडेंट्स को इन संस्थानों में दाखिला लेने से बचने के लिए कहा गया है। मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री महेंद्र नाथ पाण्डे ने हाल में राज्यसभा में कहा था कि मंत्रालय ने राज्य सरकारों को कहा है कि फर्जी विश्वविद्यालय के खिलाफ मामलों की जांच करवाएं और पुलिस में केस दर्ज कराएं।

Share This Post

Post Comment