सवा लाख रूपये ड्रा में खुलने के नाम पर ठगी में गवाएं हजारों रूपये

जालोर, राजस्थान/बाबूलालः कहावत है कि लालच बुरी बला है, जो इंसान को कहां से कहां पहुंचा देती है। यही वाक्या कस्बे में एक ईटली-सांबर बेच कर परिवार का पालन पोषण करने वाले गरीब युवक के साथ घटित होने का मामला सामने आया है। युवक को सवा लाख रूपए ड्रा में खुलने के बहाने साढे ग्यारह हजार रूपए नकद बैंक ऑफ बड़ोदा में एक एकाउन्ट में जमा करवाकर ठगी का शिकार होना पड़ा है। ईतना ही नही कुछ पढे लिखे लोगों को इस वाक्या की भनक लगने पर उसे उसी खाते में बीस हजार से ज्यादा राशि जमा करवाने से रोक लिया वरना साढे इक्कीस हजार रूपए का ओर चुना लगने मे देर नही लगती। हुआ यू कि बागोड़ा में मोरसीम निवासी दिपाराम पुत्र सैलाराम जाति पुरोहित अशिक्षित होने से यहा बस स्टेण्ड परिसर में किराए की एक दूकान लेकर करीब दो माह से इटली-साम्बर व नास्ता बेचकर अपने परिवार का गुजर बसर करता है। लेकिन जब आदमी के हालात बदतर हो और इस दौरान उसे किसी व्यक्ति द्वारा फोन कर उसके वोड़ाफोन कम्पनी के ऑफर मे हजारों रूपए खुलने का प्रलोभन दिया जाए तो अच्छे-अच्छे लोग ठगी के शिकार हो जाना लाजमी है और यही हुआ दिपाराम पुरोहित के साथ भी। पीडित ने बताया कि उसके मोबाइल नम्बर पर रात में करीब 9 बजकर आठ मिनट पर अनाम व्यक्ति के मोबाइल से कांल आया और रिसिव करने पर बताया कि दिपाराम आपके लिए एक ऑफर वोड़ाफोन कम्पनी की ओर से है जिसमे आपको एक सौ 1रूपए का रिचार्ज करवाने पर छह माह फोकट मे बात होगी और इसी के साथ आपके भाग्य ने साथ दिया तो पिचहतर हजार रूपए भी खाते मे नकद मिल सकते है। अंधा आंखो को रोता है और बहकावे मे आकर दिपाराम ने भी यही किया उसने 16 मार्च को भीनमाल जाकर जहा तहा से उधार लाए ग्यारह हजार 500 रूपए बैंक आंफ बडौदा मे आनलाइन आजाद पुत्र याकुब के नाम जमा करवा दिए व वहा से भुगतान की पर्ची लेकर बैंक के बाहर फोन का इन्तजार करने लगा कि उसके हाथ पिच्हतर हजार नकद आने वाले है। काफी इन्तजार के बाद फोन पर कोई जवाब न आता देख उसी व्यक्ति को मोबाइल पर बात की जाने पर उसे एक और नंबर पर जालोर सम्पर्क करने की बात कही तो उस व्यक्ति ने कहा कि आपके नाम की डेड़ राशि पिच्हतर हजार दूसरे विजेता के खाते मे चली जाने से अभी और बीस हजार 500 रूपए उसी एकाउन्ट मे भर दो और एक लाख रूपए ले जाओं। निराश होकर पीडित बागोड़ा मे दुकान पर पहुंचा और राशि का जुगाड़ करने लगा। इतफाख से एक पत्रकार ने उससे जानकारी ली कि इतने रूपए लेकर कहा जा रहे हो तब पुरी कहानी बताने पर उसे ठगी का शिकार हो जाने और ये राशि भी गवाने को कहते ही दिपाराम के पैरो से मानो जमीन खिसक गई। तसल्ली के लिए वोड़ाफोन केयर मे सम्पर्क करने पर बताया कि हमारे यहा ऐसे कोई आंफर नही है किसी ने आपको चुना लगा दिया है नजदीक पुलिस थाना जाकर प्राथमिकी दर्ज करवाए। लेकिन अब चिडियां चूग गई दाना पछताए होत क्या।

Share This Post

Post Comment