मसकनवां रेलवे स्टेशन के पास से बाईक चोरी

गोण्डा, उत्तर प्रदेश/श्याम बाबू कमलः जनपद के थाना छपिया अन्तर्गत ग्राम पंचायत पतिजिया खुर्द निवासी बाबू लाल की हीरो स्मार्ट आई मोटर साईकिल मसकनवां रेलवे स्टेशन से चोर उठा ले गये। स्थानीय थाना छपिया पुलिस व जी.आर.पी. चौकी मनकापुर द्वारा एक दूसरे की सीमा क्षेत्र की बात कर पीडित व्यक्ति को इधर उधर घुमा रही है, तथा इस चोरी की घटना मे पुलिस द्वारा अभी तक मुकदमा पंजीकृत नही किया गया। जनपद गोण्डा के छपिया थाना के ग्राम पंचायत पतिजिया खुर्द निवासी बाबू लाल पुत्र राम औतार 15 फरवरी 2017 को अपने गांव के ही हनुमान को रक्सौल ट्रेन पर बैठाने के लिए आया था। हनुमान को अपनी मोटर साईकिल से दिल्ली जाना था। आई स्मार्ट मसकनवां रेलवे स्टेशन के पीछे गाडी को लॉक कर प्लेट फार्म पे ट्रेन पर बैठाने चला गया। जब लौट कर आया तो देखा मोटर साईकिल गायब थी। इसकी सूचना बाबू लाल द्वारा 100 नम्बर पर दी। उसके बाद 100 नम्बर पुलिस पहुंची पुलिस द्वारा यह बताया गया कि स्थानीय थाना छपिया मे लिखित सूचना इसकी दो पीडित व्यक्ति स्थानीय थाना छपिया मे रात्रि 9 बजे लिखित सूचना देने पहुंचा। थाने की पुलिस द्वारा यह कहा गया कि सुबह आओ। बाबू लाल सुबह जब थाने पर पहुंचा तो उसको फिर मसकनवां चौकी पर भेज दिया गया चौकी प्रभारी रितेष सिंह तहरीर लेकर उससे यह कहा हम देख रहे है। इस सम्बन्ध मे उसने फिर थानाध्यक्ष छपिया हर्ष वर्धन सिंह से बात की मुकदमा लिखे जाने की तो थानाध्यक्ष द्वारा यह कहा गया कि रेलवे कैम्पस से मोटर साईकिल गायब हुई है यह रेलवे पुलिस का मामला है उक्त पीडित बाबू लाल छपिया पुलिस के मुकदमा न लिखे जाने पर मनकापुर रेलवे जी.आर.पी. चौकी प्रभारी के पास गया उनके द्वारा यह कहा गया कि प्लेट फार्म के ऊपर अगर मोटर साईकिल खडी होती तो रेलवे पुलिस का मामला बनता है। मोटर साईकिल प्लेट फार्म बाऊड्री के बाहर थी क्यो न ही रेलवे कैम्पस मे हो यह सिविल पुलिस का मामला है। इसका मुकदमा छपिया थाना मे ही दर्ज होगा। पीडित व्यक्ति थक हार कर एक बार फिर छपिया पुलिस के पास पहुंचा लेकिन अभी तक रेलवे और सिविल पुलिस के चक्कर मोटर साईकिल चोरी का मुकदमा पंजीकृत नही हो सका है। इसके पहले भी मसकनवां रेलवे स्टेशन से मोटर साईकिल गायब हो चुकी है। एक वर्ष पूर्व भी इसी तरीके से मसकनवां रेलवे स्टेशन से ग्राम पटखौली निवासी अशोक कुमार गुप्ता की हीरो होण्डा मोटर साईकिल चोर उठा ले गये थे, उस समय भी पीडित अशोक कुमार स्थानीय थाना छपिया व रेलवे पुलिस की सीमा के चक्कर मे चोरी का मुकदमा पंजीकृत न हो सका था न ही आज तक मोटर साईकिल ही बरामद हो सकी हो भी कैसे जब मुकदमा ही नही पंजीकृत था।

Share This Post

Post Comment