11 मार्च को आने वाले रिजल्ट को लेकर भारतीय जनता पार्टी की बढ़ी धड़कनें

लखनऊ, उत्तर प्रदेश/राजू सोनीः यूपी में कल सभी चरण के चुनाव के प्रचार का आखिरी दिन था। 8 मार्च को सातवें और आखिरी चरण का मतदान होना है। 11 मार्च को आने वाले रिजल्ट को लेकर भारतीय जनता पार्टी की धड़कनें बढ़ गई हैं। सभी जानते हैं कि भाजपा अध्यक्ष और पीएम मोदी ने यूपी जीतने के लिए अपना जी-जान लगा दिया है। यूपी में ‘वनवास’ खत्म करने के लिए बीजेपी ने राज्य विधानसभा चुनाव में पूरी ताकत झोंक दी। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि यूपी जीतने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने हर रोज करीब 28 रैलियां की। वहीं यूपी में लगभग 1,200 रैलियां की।  इसके अलावा पीएम नरेंद्र मोदी की 20 रैलियों से बीजेपी ने राज्य में वापसी के लिए हर दांव चला है। बीजेपी ने मतदाताओं को रिझाने के लिए हर संभव दांव चला। कांग्रेस और एसपी के गठबंधन के बाद बीजेपी ने यूपी में अपनी रणनीति बदलते हुए धुआंधार प्रचार किया। बीजेपी ने अपने नेताओं की रैलियों से राज्य की जनता को यह संदेश देने की कोशिश की वह राज्य की भलाई के लिए पूरी ताकत से जुटी है और इस चुनाव में उसे एक मौके की जरूरत है।

Share This Post

Post Comment