बच्चों के निवाले का घोटालेबाज एक सप्ताह बाद भी नहीं आया पुलिस गिरफ्त में

सीवान, बिहार/नागेंद्र सिंहः बच्चों के निवाले की कालाबाजारी करने का आरोपी प्रखंड साधनसेवी व उसके अन्य साथी एक सप्ताह बाद भी पुलिस की पकड़ में नहीं आ सके हैं। जबकि वह मोबाइल के माध्यम से शिक्षकों को आदेश देता रहता है। एक सप्ताह पूर्व जिलाधिकारी के निर्देश पर डीपीओ एमडीएम संघमित्रा वर्मा एव थानाध्यक्ष अखिलेश कुमार मिश्र ने संयुक्त रूप से बलहा एराजी गांव में देर शाम छापेमारी कर एमडीएम के 60 बोरा चावल की कालाबाजारी करने के उद्देश्य से दूसरे बोरों में पलटते रंगे हाथ दो लोगों को गिरफ्तार किया था। इसके बाद गिरफ्तार पिकअप चालक ददन कुमार यादव के बयान पर प्रखंड साधन सेवी रंजीत कुमार ठाकुर सहित पांच लोगों पर आवश्यक वस्तु अधिनियम की धारा सात के तहत प्राथमिकी दर्ज कर ली गई। दावा है कि इनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी भी कर रही है लेकिन एक सप्ताह बीत जाने के बाद साधन सेवी के साथ अन्य आरोपी पकड़े नहीं जा सके। आश्चर्य की बात यह है कि फरारी की स्थिति में भी साधनसेवी कुछ शिक्षकों को मोबाईल पर फोन कर उपयोगिता प्रमाण पत्र सिवान पहुंचाने का आदेश देता है। थानाध्यक्ष अखिलेश कुमार मिश्र ने कहाकि कानून अपना काम कर रहा है। इस मामले के सभी आरोपियों को हर हालत में गिरफ्तार किया जाएगा।

Share This Post

Post Comment