भीनमाल में अन्तरराज्यीय चोर गिरोह का पर्दाफाश, लग्जरी कार व लाखों के जेवर बरामद

भीनमाल में अन्तरराज्यीय चोर गिरोह का पर्दाफाश, लग्जरी कार व लाखों के जेवर बरामद

जालोर, राजस्थान/अजबारामः मंदिरों को निशाने बनाने वाले और पूरे राज्य की नाक में दम करने वाले गिरोह को आखिरकार जालोर पुलिस ने पकड़ लिया। इस गिरोह के पांच सदस्यों की गिरफ्तारी हुई है। चोरी के दौरान गिरोह के सदस्य लग्जरी कार का इस्तेमाल करते थे। ताकि चोरी की वारदात को अंजाम देने के बाद रफ्तार से नौ दो ग्यारह हो सके। टीम के सभी सदस्यों को जिला पुलिस अधीक्षक द्वारा पुरष्कृत करने की घोषणा की गई है। मुख्य आरोपी प्रवीणकुमार सोनी गेंग के सभी सदस्यों को धानेरा बुलाकर मंदिर में चोरी करने की प्लानिंग बनाता था। योजना बनाकर अपनी इनोवा कार से दिन को उस मंदिर की रैकी की जाती थी। रात में चोरी की वारदात को अंजाम दिया जाता था। मंदिर के मूर्तियों के सोने-चांदी के आभूषण उतारकर तथा भण्डारे को उठाकर चोर अपने वाहन में डालकर सुनसान जगह  ले जाते और भण्डारे को तोड़कर रुपए निकालते थे। मुख्य आरोपी प्रवीणकुमार सोनी के घर धानेरा पहुंच कर माल का बंटवारा किया जाता था। पांचों से गहन पूछताछ की गई तो थाना भीनमाल के कुशलापुरा मामाजी के मंदिर व थाना करडा के लाखावास गांव के आशापुरा मन्दिर से चोरी करने की बात कबूली। मुख्य आरोपी प्रवीणकुमार सोनी है। अन्य गेंग के सदस्य है। सभी सदस्यों ने थाना भीनमाल, बागरा, रामसीन, चितलवाना तथा अन्य कई जगह अपनी गैंग के सदस्यों के साथ मिलकर नकबजनी की कई वारदातो को अंजाम देना भी कबूल किया। मंदिर चोरी की बढ़ती वारदातों के मध्यनजर जिला पुलिस अधीक्षक कल्याणमल मीना ने जिले में प्रभावी गश्त व नाकाबन्दी के निर्देश दिए थे। जिस पर अपराधियों के धरपकड़ अभियान के दौरान भीनमान पुलिस ने मंदिर चोरी के अन्तरराज्यीय गैंग के पांच सदस्यों को गिरफ्तार करने व घटना में प्रयुक्त वाहन तथा मन्दिर चोरी के सोने-चांदी के आभूषण व रूपयों जब्त करने में सफलता प्राप्त की। थानाधिकारी पुलिस थाना भीनमान कैलाशचन्द्र मीना के नेतृत्व में २५  फरवरी को हैड कांस्टेबल करनाराम विश्नोई, कांस्टेबल विक्रमसिंह राठौड़, चिमनाराम चौधरी, दिनेश मेघवाल और प्रभुराम विश्नोई और भजनलाल विश्नोई रात में संदिग्ध वाहनों को चैक कर रहे थे। २६ फरवरी सुबह करीब चार बजे खारी रोड भीनमाल पर महावीर चौराहा की तरफ  से एक लग्जरी कार तेज गति से आई। जिसे करनाराम विश्नोई मय जाब्ता ने रुकवाया। कार के अंदर चालक सहित पांच जने बैठे हुए मिले। जिनकी गतिविधियां संदिग्ध पाई गई। बाद में पुलिस ने वाहन की तलाशी ली तो पुलिस को खुद की आंखों पर विश्वास ही नहीं हुआ। वाहन के अंदर मंदिर चोरी का माल पाया गया। बाद में पुलिस ने हाजी पुत्र जलालभाई जाति मोयला निवासी हडता, प्रवीणकुमार पुत्र मसराजी जाति सोनी निवासी चामुण्डा सोसायटी धानेरा, सलीम पुत्र नुरा जाति मोयला निवासी कोटडा विस्तार, नजीर पुत्र नुर मोहम्मद जाति मोयला निवासी कोटडा वास धानेरा पुलिस थाना धानेरा और अनिल उर्फ  अनवर पुत्र जमा जाति मोयला निवासी हडता को पकड़ा। सभी पुलिस थाना धानेरा जिला बनासकांटा (गुजरात) के रहने वाले हैं।

Share This Post

Post Comment