31 फीसद प्रत्याशी करोड़पति, सतपाल महाराज सबसे धनवान

अल्मोड़ा, उत्तराखंड/नगर संवाददाताः उत्तराखंड में 75 लाख से ज्यादा मतदाता बुधवार को अपने मताधिकार का उपयोग कर रहे हैं। कर्णप्रयाग सीट का चुनाव टलने के बाद अब 69 सीटों पर कुल 628 प्रत्याशी मैदान में हैं। जबकि 70 सीटों के लिए कुल 637 उम्मीदवार चुनावी दंगल में आमने-सामने थे। 637 में से 200 यानि करीब 31 फीसद प्रत्याशी करोड़पति हैं। पार्टियों के आधार पर देखा जाए तो एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक कांग्रेसके कुल 70 उम्मीदवारों में से 51 नेता करोडपति हैं, जबकि भाजपा के 70 प्रत्याशियों में से 48 करोड़पति हैं। बसपा के 69 उम्मीदवारों में 19, यूकेडी के 55 उम्मीदवारों में 13, सपा के 20 उम्मीदवारों में चार, और 261 निर्दलीय उम्मीदवारों में 53 ने अपने पास एक करोड़ से अधिक की संपत्ति होने की घोषणा की है। रिपोर्ट के अनुसार ऐसे उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 1.57 करोड़ रुपये की है। विधानसभा चुनाव के लिए कुल 78 उम्मीदवारों ने अपना पैन ब्यौरा नहीं दिया है। एडीआर का कहना है कि सबसे अधिक संपत्ति वाले तीन शीर्ष उम्मीदवार भाजपा के सतपाल महाराज (80 करोड़ रुपये), निर्दलीय मोहन प्रसाद काला (75 करोड़ रुपये) और भाजपा के शैलेंद्र मोहन सिंघल (35 करोड़ रुपये) हैं. मुख्यमंत्री हरीश रावत के पास छह करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति है। सबसे कम संपत्ति वाले उम्मीदवारों की बात की जाए तो हरिद्वार की मंगलौर सीट से बहुजन मुक्ति पार्टी के प्रत्याशी सुनील कुमार और चंपावत जिले की लोहाघाट सीट से निर्दलीय उम्मीदवार राजेंद्र सिंह की कुल संपत्ति 500-500 रुपये है। उधर चमोली जिले की बदरीनाथ सीट से उम्मीदवार मिस अरुणा की संपत्ति 11 सौ रुपये है।

 

Share This Post

Post Comment