मेहंदीपुर बालाजी में चमकीले पत्थर को असली नग बताकर बेचने वाले गिरोह का पर्दाफाश

दौसा, राजस्थान/पवन शर्माः थाना अधिकारी राजीव डुडी केद्वारा बताया कि मेहंदीपुर बालाजी में चमकीले पत्थर को असली नग बताकर बेचने वाले गिरोह के 8 लोगो को पकडा गया है। करनाल निवासी कभरवान अपने परिवार के साथ मेंहदीपुर बालाजी घुमने आये थे। शनिवार दोपहर को तीन पहाड़ पर बने पंचमुखी हनुमान जी के दर्शन करने के लिए गये वहा पर उनको एक अधेड़ वयस्क मिला जो नग नगीने बेच रहा था। दो लोग उनके पास आये ओर इशारा करते हुऐ बताया कि यह राशि गृह के अनुसार नग बचने का काम करते हैं। एक बार अपनी राशी के अनुसार नग खरीद कर देखो। पहले हथेली पर पानी डाला और उस नग रूपी पत्थर को हथेली पर रखा जो कि काला था उसे शनिदेव का बताया। फिर उस पर तरल पदार्थ के छीटे दिये। जिससे कि उसका रंग गुलाबी हो गया। इस प्रकार दूसरा गुलाबी पत्थर बताया कि दोनो ही नग आपकी राशी के अनुसार है। इनकी कीमत तकरीबन 10000 से 20000 हजार हैं। ये पत्थर हिंदू धर्म व मुस्लिम दोनो के लिए बहुत ही काम आता है। उन लोगों के द्वारा पैसो को आपस में मिलकर बांटते हुऐ नग खरीदने वाले लोगों ने देख लिया कुछ शक होने पर पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस के द्वारा बोगस ग्राहक बनकर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया गया।

Share This Post

Post Comment