बाप मां और बेटों ने मिलकर उड़ाई राजस्व नियमों की धज्जियां, पूरे गांव को पहुचाई क्षति

रीवा, मध्यप्रदेश/संजय मिश्राः जीतेंद्र पाण्डेय सुभाष पाण्डेय दोनों के पिता अदित्य पाण्डेय, सुधा पाण्डेय पत्नी अदित्य पाण्डेय, एवं स्वयं अदित्य पाण्डेय राजस्व संहिता की धाराओँ की अवमानना एवं दुरुपयोग करते हुए ग्रामवासियों को प्रताड़ित कर रखा है। ज्ञात हो कि अदित्य प्रसाद पाण्डेय अपनी पत्नी सुधा पाण्डेय को लेकर लगभग सन् 1975 से अपना ग्रहग्राम पतौना छोड़कर अपनी ससुराल ग्राम छिरेहटा में निवासरत हैं। जहां योजनापूर्वक अपनी नानीसासू की जमीन अपने नाम पर करवानी चाही थी जिसमें असफल रहे। अगले साले राजेन्र्द शुक्ला के सरपंच बनते ही योजनापूर्वक अपने घर के सामने व बगल में स्थित शाशकीय भूमि पर बाड़ी लगाकर कच्चा मकान बनाकर पक्के मकान की नींव एवं पेंड़ पौधे लगाकर अवैध कब्जा किया। जिससे प्राथमिक पाठशाला एवं गांव में बरसात के समय जल निकासी की समस्या उत्पन्न हो गई। जिसकी जाँच एवं पुष्टी वृत्त के आर. आई. श्री मेवालाल गुप्ता एवं हल्का पटवारी श्री राजेस्वरी तिवारी द्वारा की गई थी। दिनांक 31-10-2014 को राजस्व सहिंता 1959 की धारा 248 के तहत अतिक्रमण हटाने हेतु नायब तहसीलदार के द्वारा आदेश किया गया। आदेश की अवमानना व न्यायालय में गलत जानकारी देते हुए जहां वर्ष 2015 में पीलर के ऊपर जीतेन्र्द पाण्डेय के द्वारा पुन: नए पक्के मकान का निर्माण कर व नाली बनाकर जलनिकासी को पूर्णत: बंद कर दिया गया। वही इसका विरोध करने वालों पर म. प्र. राजस्व सहिंता की धारा 250, 32 जनसुनवाई एवं कई अन्य कानूनी धाराओँ का दुरूपयोग करते हुए आर्थिक एवं मानसिक प्रताड़ित किया जा रहा है। 31-10-2014 के आदेश उपरांत भी आज दिनांक तक अतिक्रमण नहीं हटाया गया है क्योंकि आरोपियों को संबंधित विभागीय कर्मचारियों की सह मिल रही है, जिसकी जांच उच्चायोग के अधिकारियों द्वारा की जानी चाहिए, क्योंकि बरसात के मौसम मे स्कूल जाने वाले छोटे बच्चों एवं गांव के गरीब व्यक्तियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

Share This Post

Post Comment