केशवना जैन मंदिर में भगवान की मूर्ति में दिखे चार नेत्र

जयपुर, राजस्थान/मयूर जैनः राजस्थान के केशवना नगर की धन्य धरा पर परम पूज्य अध्यातमयोगी आचार्य देवेश, श्रीमद् विजय कलापूणँसूरिश्वर महाराज साहिब के शिष्यरत्न परम पूज्य आचार्यदेव श्रीमद् विजय कलाप्रभ सूरीश्वर जी म.सा परम पूज्य आचार्यदेव श्रीमद् विजय कल्पतरू सूरीश्वर जी म.सा प्रवचन प्रभावक एवं परम पूज्य आचार्यदेव श्रीमद् विजय कीर्तिचन्द्र सूरीश्वर जी महाराज साहिब आदि साधु-साध्वी वृंद के निश्रा में “श्री कलापूर्ण विहार” प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव मे मंदिर जी मे मुलनायक भगवान मुनिसुव्रत स्वामी के चार चकक्षु प्रतीत हुए अर्थात मुनिसुव्रत स्वामी भगवान के दो चक्क्षु के नीचे दो और चकक्षु दिखाई दिए। यह एक बहुत ही बड़ा साक्षात चमत्कार है। दिखने मे ऐसा प्रतीत हो रहा है कि भगवान साक्षात हमें ही देख रहे हैं । जिसे देखने के लिए काफी संख्या में लोग उपस्थित हुए। सभी लोगों की वाणी मे केवल एक ही शब्द भगवान साक्षात हमे देख रहे हैं।

Share This Post

Post Comment