बिहार के हजारो सांख्यिकी कार्मियो की नौकरी बर्खास्त पटना उच्च न्यायालय ने भी दिया झटका

सीवान, बिहार/अमित कुमारः पटना बिहार मे अनुबंध पर बहाल हुए सांख्यिकी सहायको के लिए बुरी खबर है। पटना उच्च न्यायालय ने 10 हजार से अधिक सांख्यिकी सहायको को हटाए जाने के राज्य मंत्रिमंडल के फैसले मे हस्तक्षेप करने से इन्कार कर दिया है।हालांकि न्यायमूर्ति ज्योति शरण की एकलपीठ ने करीब 200 रिट याचिकाओ को निष्पादित करते हुए राज्य सरकार को भविष्य मे सांख्यिकी सहायको की भर्ती मे इन्हे वरीयता देने का निदेश दिया।अदालत ने कहा कि याचिकाकरताओ को उनके किए गए कार्यो के अनुभव के आधार पर तरजीह दी जा सकती है।साथ ही इनहे उम्र सीमा मे छूट मिल सकती है बताते चले कि राज्य मंत्रिमंडल के 16 फरवरी 2015 के फैसले से इन हजारो सांखयकी सहायको की बहाली हुई थी। बाद मे कैबिनेट ने 7 जून 2016 को फैसला लिया कि अब सांख्यिकी सहायको से काम लेने की जरूरत नही है।सुप्रीम कोर्ट के फैसलो का हवाला देते हुए हाईकोर्ट ने कहा कि हजारो कमियो से काम लेने की जरूरत यदि सरकार नही समझती है तो फिर उन कमियो से काम लेते रहने का आदेश देना ठीक नही होगा।

Share This Post

Post Comment