बहला फुसलाकर किडनी निकालने का मामला आया सामने

WhatsApp Image 2017-01-24 at 1.35.16 PM (1)

अहमदनगर, महाराष्ट्र/गणेश सुर्यवंशीः संगमनेर तालुके व सावरचोल में रहनेवाली सुमन गजानन मेंगाल नाम की महिला को बहला फुसलाकर किडनी निकालने का मामला सामने आया है। दरअसल सावरचोल गांव में रहने वाले लक्ष्मण नामदेव मेंगसन, भोरू सरवाराम भुलोवरे और सुकदेव निकम इन तीन लोगों ने दबाली करके मुंबइ में रहनेवाले रामदास पथवे के साथ मिलकर रामदास पथने की पत्नी रोशिनी रामदास पथवे को किडनी की जरूरत थी और इन तीनों ने दलाली करके उस महिला अशिक्षित होने का फायदा उठाकर ज्युपीटर हॉस्पिटल में किडनी निकालकर उसे लावारिस की तरह छोड़ दिया गया। असल में उस महिला की किडनी लेते समय कानुन के तहत दस्तावेज बनाके उस महिला को अज्ञान का फायदा उठाकर उससे अंगुठे का निशान कराके उसे कानून अपाघित बना दिया गया। और इस घटना के खिलाफ आवाज उठाकर की कोशिश की तब आरोपी रामदास पथवे ने सुमन नाम की महीला को 2 लाख रू दिए और उसे चुप रहने को कहा गया। लेकिन इन तीनों दलालों ने उसे धमकाकर पैसे निकाल लिए। उस घटना के बाद स्थानिक संगमनेर पुलिस थाने में उस महिला ने मामला दर्ज करवाया। पुलिस तहकीत कर रही है। उस महीला के पास अभी अपने इलाज के लिए भी पैसे नहीं है। उसकी हालत इतनी खराब है कि वो दो वक्त की रोटी की भी मोहताज है। महिला अब न्याय की प्रतीक्षा में है।

Share This Post

Post Comment