मथुरा में हसनपुर में खेत पर गए ग्रामीण की गोली मारकर हत्या

मथूरा, उत्तर प्रदेश/नीरज कुमारः थाना नौहझील के गांव हसनपुर में शनिवार को खेत पर गये गांव के ग्रामीण किशोरी सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गयी। पुलिस ने मौका मुआयना कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इस घटना के बाद गांव में तरह-तरह की चर्चाओं का दौर जारी है। पुलिस भी इस हत्या को महिला की हत्या की कड़ी में जोड कर चल रही है।शनिवार की सुबह करीब आठ बजे खेत पर गए 45 वर्षीय किशोरी सिंह की गांव से कुछ दूर गांव भूरेका को जाने वाले रास्ते के समीप गोली मारकर हत्या कर दी गयी। इसकी जानकारी होते ही गांव में हडकंप मच गया, घटनास्थल पर ग्रामीणों का हुजूम लग गया। सूचना के बाद इलाका पुलिस के साथ सीओ मांट संजय सागर ने मौका मुआयना कर शव को कब्जे में कर पोस्टमार्टम को भिजवाया। मृतक के भाई जग्गो उर्फ जगवीर ने पुलिस को दी तहरीर में आरोप लगाया कि वह अपने भाई किशोरीलाल,भतीजे के साथ खेत पर था। तभी खेत से कुछ दूर खड़े गांव के रामपाल ने किशोरी को अपनी ओर बुलाकर गोली मार दी। गोली लगने से वह गिर गया,जब वह उस ओर दौडा तो रामपाल ने फायरिंग करते हुए कहा कि तुमने ही हरीप्रकाश उर्फ खेमसिंह से कहकर उसकी पत्नी की हत्या के मामले में मेरे खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी,ये उसी का अंजाम है। जग्गो ने रामपाल,उसके बेटे श्यामवीर व उसके भरतपुर निवासी भांजे के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस मामले की जांच करने में जुट गयी है। थाना प्रभारी निरीक्षक राघवेन्द्र सिंह ने बताया कि यह मामला महिला की हत्या जुडी एक कडी है। प्रथमदृष्टया मामला अवैध संबंधों का प्रतीत हो रहा है। मामले की जांच की जा रही है। इसका खुलासा शीघ्र किया जायेगा। घटनाओं के केन्द्र में रामपाल नौहझील। गांव हसनपुर में चार दिन के अंदर महिला समेत दो की हत्या के मामलो को लेकर गांव में चर्चाओं को दौर जारी है,लेकिन खुलकर कोई भी कुछ कहने से बच रहा है। लेकिन चर्चाओं में हत्या के पीछे अवैध सम्बन्ध ही हैं। मृतक किशोरी के भाई जग्गो ने भी रामपाल को नामजद किया है, तहरीर में इस बात का जिक्र किया है कि किशोरी ने उसके खिलाफ हरीप्रकाश से कहकर उसके खिलाफ रामवती की हत्या में नामजद कराने में सहयोग किया था। विदित हों हरीप्रकाश ने भी पत्नी की हत्या में रामपाल को आरोपी बनाया था। ग्रामीणों का कहना है कि करीब दो वर्ष पूर्व भी रामपाल व किशोरी लाल में झगड़ा हुआ था, इसकी रिपोर्ट किशोरी लाल व हरीप्रकाश उर्फ खेमसिंह के विरुद्ध हुई थी। कुल मिलाकर इस पूरे घटनाक्रम में रामपाल मुख्य केन्द्र बिन्दु की भूमिका में है। इस मामले में सीओ मांट संजय कुमार ने बताया कि अवैध सम्बन्धों को लेकर यह हत्या हुई है। इसके खुलासे के लिए एसएचओ नौहझील, कस्बा नौहझील इंचार्ज व मांट पुलिस सहित तीन टीमें गठित की गई हैं। शीघ्र ही पुलिस मामले की तह तक पहुंचेगी।

Share This Post

Post Comment