निजी अस्पताल में प्रसूता की मौत, गुस्साए परिजनों ने किया पथराव

जालोर, राजस्थान/बाबूलालः भीनमाल के एक निजी अस्पताल लाइफ लाइन में डिलीवरी के दौरान प्रसूता की मौत हो जाने से परिजनों ने भीनमाल जालौर मुख्य हाईवे रोक कर धरने पर बैठ गए। इस दौरान परिजनों की मांग थी कि आरोपी डॉक्टर को गिरफ्तार किया जाए। इसी को लेकर भीड़ इतनी बढ़ गई कि पुलिस को अतिरिक्त जाब्ता बुलाकर भीड़ पर काबू करने की कोशिश की लेकिन भीड़ काबू में नहीं आई। आक्रोशित लोगो ने लाइफलाइन अस्पताल पर पत्थरबाजी करनी शुरू कर दी। भीड़ को काबू करने के लिए करते के लिए, पुलिस की ओर से लाठी चार्ज कर भीड़ को तितर बितर करने की कोशिश की लेकिन मामला इतना गर्म आ गया की भीड़ ने आक्रोशित होकर अस्पताल पर अंधाधुंध पत्थरबाजी करनी शुरू कर दी। जिस पर कुछ स्थानीय लोगों तथा पुलिसकर्मियों को हल्की चोटें आई। भीनमाल सीओ धीमारामजी बिश्नोई के नेतृत्व में पुलिस ने अतिरिक्त जाब्ता बुलाकर मामला शांत करने की कोशिश की लेकिन जब एंबुलेंस लाश लेकर परिजनों के पास पहुंचे तो एक बार फिर से परिजनों का गुस्सा फूट पड़ा तथा पुलिस विभाग के खिलाफ नारे लगाते हुए अस्पताल के अंदर घुस गए। इस दौरान पुलिस व लोगों के बीच हल्की झड़प भी हो गई। जानकारी के अनुसार लाइफ लाइन हॉस्पिटल के अंदर कल शाम को एक प्रसूता को उसके परिजन डिलीवरी को लेकर अस्पताल लेकर आए थे। इसी दौरान डॉक्टर की लापरवाही के चलते डॉक्टर ने सही ढंग से डिलीवरी करने की बजाये ज्यादा खून निकले के कारण प्रसूता की हालत गंभीर होने के कारण डॉक्टर ने उसे गंभीर अवस्था में अपने स्तर पर एंबुलेंस बुलाकर गुजरात रेफर कर दिया गया लेकिन कुछ ही समय बाद में प्रसूता की रास्ते में मौत हो गई। इसी को लेकर परिजनों का आक्रोश फूटा और डॉक्टर को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर धरने पर बैठ गई। घटना की सूचना मिलने पर भीनमाल उपखंड अधिकारी चेनाराम चौधरी विधायक पूराराम चौधरी प्रधान तुकाराम राजपुरोहित मौके पर पहुंचकर मामला शांत करने की कोशिश की लेकिन परिजन नहीं माने वह धरने पर बैठे रहे। पृजनन आरोप लगाया कि अस्पताल मालिक ने हमें यह कहा कि आप 2 लाख रुपए ले जाओ और यहां पर हंगामा ना करो इसी को लेकर परिजनों का गुस्सा इतना भड़क गया अस्पताल पर पत्थरबाजी जैसी घटना शुरु हो गई।f

Share This Post

Post Comment