भारतीय सेना के जवानों को मिलेंगे ‘मॉर्डन हेलमेट’, 20 साल का इंतजार होगा खत्म

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः भारतीय सेना जो हर वक्त आतंकियों के निशाने पर रहती है। हर महीने कुछ खबर सुनाई देती है कि आतंकियों ने घात लगाकर आर्मी के जवानो पर हमला किया। ऐसे में सवाल भी उठता था की सेना तो लोगो की रक्षा कर लेती है लेकिन खुद को कैसे आतंकियों के निशाने से बचाए। लेकिन अब कुछ बदलाव नजर आने लगे हैं। आपको भी जानकर खुशी होगी की अब सेना के जवानो को अपनी रक्षा करने के लिए वर्ल्ड क्लास हेलमेट मिलेंगे। आपको बता दें की अब सेना के जवानो को बेहतरीन और विश्व स्टैंडर्ड वाले हेलमेट मिलेंगे। एनडीटीवी की खबर के अनुसार कानपुर की एमकेयू इंडस्ट्रीज से बात भी की गई है। इसके बाद अब उन्हें तकरीबन 1.58 हेलमेट बनाने का ऑर्डर दिया गया है। सेना के लिए बनाये जा रहे इस अभेद्य हेलमेट के प्रोजेक्ट में कुल 170 से 180 करोड़ रुपए खर्च हो सकते हैं। खबरों की माने तो जवानो के पास यह हेलमेट तीन साल के भीतर पहुंच जाएगा।  गौरतलब हो कि यह नए हेलमेट अभेद्य कवच की तरह सेना के जावानों की सुरक्षा करेंगे इस हेलमेट 9mm की गोली को झेलने की भी पॉवर होती हसी। हमला कितने भी करीब और दुरी से क्यों न किया जाए इस हेलमेट के कारण जवान का सर सुरक्षित रहेगा। इस हेलमेट एमकेयू बनाने वाली है जो बुलेटप्रूफ जैकेट और हेलमेट बनाने में वर्ल्ड लीडर है। इससे पहले सरकार ने इजरायल से करीब 10 साल पहले भारतीय सेना की स्पेशल फोर्स के लिए इजरायल के ओआर-201 हेलमेट्स मंगवाए गए थे।

Share This Post

Post Comment