पटना की मकर संक्रांति बनी निराशाजनक

पटना, बिहार/अमितः गंगा पार दियारा में पर्यटन विकास निगम द्वारा आयोजित पतंगोत्सव में पहुंचे हजारों लोगों की खुशियों पर मशीनरी के खराब इंतजाम ने पानी फेर दिया। एमवी कौटिल्य विहार लोगों को वापस लाने में लगा था जिसकी क्षमता करीब 40 लोगों की थी लेकिन 100 से ज्यादा लोग भी इस पर सवार होकर आ रहे थे। नाव जैसे ही किनारे से 15 मीटर आगे बढ़ी ज्यादा वजन होने के कारण गंगा की धारा में बैठ गई। कुछ लोगों का कहना था कि एक छेद था, जिसके कारण नाव में अचानक पानी भरने लगा। घटना के बाद कोहराम मच गया और पीछे से आ रही नाव पर बैठे लोग चिल्लाने लगे। लोगों ने नाव पर से ही अधिकारियों को फोन लगाना शुरू किया। गंगा घाट पर चीत्कार मच गया और लॉ कॉलेज घाट पर खड़े लोग चिल्लाने लगे। सुरक्षा की कोई व्यवस्था न देखकर लोग प्रशासन को कोस रहे थे।

Share This Post

Post Comment