माननीय न्यायालय द्वारा सम्मान जनक न्याय

रायपुर, छत्तीसगढ़/अमित कुमारः विधायकों के खरीद-फरोक्त के झूठे मामले में माननीय न्यायालय द्वारा सम्मान जनक न्याय मिलने पर हर्ष व्यक्त करते हुए मरवाही विधायक अमित जोगी ने कहा कि आखिरकार झूठ की हार और सच की जीत हुई है। पहले जग्गी, फिर जूदेव और अब विधायकों की खरीद-फरोक्त, सीबीआई द्वारा दर्ज इन तीनों झूठे मामलों में हमे न्याय मिलना इस बात का शुभ संकेत है कि अब छत्तीसगढ़ में रमन सरकार के दिन गिनती के रह गए हैं और जोगी सरकार बनने में अब कुछ ही दिन रह गए हैं। दरअसल सच्चाई यह है कि सौम्य और शांत दिखने वाले मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह का व्यक्तित्व असल में द्वेष, अमर्ष और कुटिलता से भरा है और यही एक मात्र कारण है कि उन्होंने छत्तीसगढ़ में अपना वजूद कायम रखने के उद्देश्य से जोगी जी और उनके परिवार के विरुद्ध सीबीआई का भरपूर इस्तेमाल किया। मुख्यमंत्री यह बखूबी जानते हैं कि अगर उन्हें कोई सत्ता से हटा सकता है तो वो हैं जोगी जी और यही कारण है कि बारबार हमारी राजनीतिक हत्या की मंशा से एक नहीं बल्कि तीन-तीन झूठे मामले सीबीआई को सौंपे गए। जबकि कांग्रेस के नेताओं को मुख्यमंत्री क्लीन-चिट देते फिरते हैं, उनके विरुद्ध संघीन शिकायत होने के बाद भी क्यों कोई जांच नहीं बैठाई गयी अब तक ? मुख्यमंत्री और भाजपा सरकार ने विपक्ष में बैठे अपने मित्रों के सहयोग से हमारे विरुद्ध हर वो हथकंडे अपनाये जिससे जनता के बीच हमारी छवि को धूमिल किया जा सके। लेकिन माननीय न्यायपालिका पर हमारा अटूट विश्वास, छत्तीसगढ़ के लोगों का अपार प्यार और भगवान् का आशीर्वाद सदैव हमारे साथ बना रहा और यही कारण है कि हमारे विरोधी अब तक अपने मंसूबों में सफल नहीं हो पाए और न भविष्य में होंगे।

Share This Post

Post Comment