जनरल रावत ने पाकिस्तान को दी चेतावनी कहा- हमारे धैर्य को न परखें

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः नए सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने पाकिस्तान को कड़े शब्दों में चेतावनी देते हुए कहा कि पड़ोसी मुल्क को सीमापार से घुसपैठ और आतंवाद को बढ़ावा देने वाली गतिविधियों से परहेज करना चाहिए वरना भारतीय सेना के पास इन गतिविधियों का मुहतोड़ जवान देने की पर्याप्त क्षमता है। जनरल रावत ने 29 सितंबर की सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र करते हुए कहा, “सर्जिकल स्ट्राइक इस बात का उदाहरण है कि हमारे पास पूरी क्षमता है। आतंकी ढांचे के बारे में हमें पूरी जानकारी है और हमारी खुफिया जानकारी भी शानदार है। अगर फिर कभी ऐसी जरूरत पड़ी तो हम पूरी क्षमता के साथ हमला कर सकते हैं। हम युद्ध करने वाले देश नहीं लेकिन हमारे धैर्य को परखना नहीं चाहिए। हर बार हमारा जवाब एक जैसा नहीं होगा।” नए सेना प्रमुख ने कहा, ‘सीमा पर अभी हालात में थोड़ी शांति आई है लेकिन, अभी भी पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर और पाकिस्तान में 20 आतंकी ट्रेनिंग कैंप पूरी क्षमता के साथ चल रहे हैं। जनरल रावत ने कहा कि भारतीय सेना न केवल आतंकियों और उनके आकाओं से निपटने में पूरी तरह सक्षम है बल्कि पाकिस्तान और चीन से एकसाथ दो मोर्चों पर भी भिड़ने की क्षमता रखता है।’ इसके साथ ही उन्होंने कहा, ‘क्षमता के मामले में अब चीजें काफी बदल चुकी हैं। वायु सेना और नेवी इस तरह की किसी भी हिमाकत से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है।’ हालांकि सेना प्रमुख ने साथ ही ये भी कहा कि भारत चीन के साथ सहयोग चाहता है विवाद नहीं। उन्होंने कहा, ‘नया कॉर्प उत्तरी सीमाओं पर हमारी जमीनी क्षमताओं को मजबूत बनाएगा। इस कॉर्प के गठन की प्रक्रिया जारी है। इसके लिए हथियार और उपकरण भी खरीदे जा रहे हैं। इसके लिए ढांचा भी बनाया जा रहा है। सरकार भी इसके लिए पूरा सहयोग कर रही है।’

 

 

Share This Post

Post Comment