11वीं कक्षा की एक नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म

चुरू, राजस्थान/नगर संवाददाताः एक निजी स्कूल संचालक राकेश भार्गव और उसके एक रिश्तेदार ने 24 दिसंबर को सरकारी स्कूल की 11वीं कक्षा की एक नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। दरिंदों ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म करने के बाद उसकी पिटाई की और बाद में जान मारने के लिए उसे बाइक से कुचला। बाइक चढ़ाने से नाबालिगा की रीढ़ व पसलियां टूट गईं और नाबालिग पूरी लहूलहान हो गई। पीड़िता के आंख पर भी चोट आई है। अधमरी हालत में आरोपी पीड़िता को सड़क पर डालकर चले गए। मामला चूरू जिले की बीदासर के सारंगसर गांव का है। इस दौरान कड़ाके की ठंड में पीड़िता करहाती रही। उसके पिता ने दो जनवरी को बीदासर थाने में एक नामजद सहित दो लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है। पीड़िता के पिता ने बताया कि भोमपुरा गांव निवासी राकेश भार्गव व उसका एक रिश्तेदार घर में घुसकर उसकी पुत्री को जबरदस्ती बाइक पर बैठा कर ले गए। दुष्कर्म के बाद घर से काफी दूर चरला रोड पर एक खेत में सामूहिक दुष्कर्म किया। पीड़िता के पिता ने बताया कि 25 दिसम्बर को आरोपी राकेश भार्गव के पिता मांगीलाल भार्गव व उनकी पत्नी ने मुझसे कहा कि तुम्हारी बेटी घायल अवस्था में मिली है। उसे गंभीर हालत में सुजानगढ़ अस्पताल ले गए, वहां से डॉक्टरों ने उसे बीकानेर रेफर कर दिया। बीकानेर से अब जयपुर रेफर किया गया। अब उसका इलाज जयपुर के एसएमएस अस्पताल में चल रहा है। उन्होंने बताया कि मांगीलाल भार्गव अपने बेटे का गुनाह छिपाने के लिए मेरी बेटी को घायल अवस्था में अपने घर ले गया। आरोपी राकेश भार्गव का पिता मांगीलाल भार्गव ने बैरासर गांव में निजी स्कूल शिव शक्ति शिक्षण खोल रखा है। आरोपी के पिता ने पूरे मामले को दबाने का भी मुझ पर दबाव बनाया। इस मामले की जांच सुजानगढ़ डीएसपी हनुमान सिंह कविया कर रहे हैं। सुजानगढ़ पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और गहनता से पूछताछ कर रही है।

Share This Post

Post Comment