पूर्व सीएम सुंदरलाल पटवा का निधन, छग में 3 दिन का राजकीय शोक घोषित

रायपुर, छत्तीसगढ़/मयूर जैनः मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम सुंदरलाल पटवा का निधन हो गया वे 92 वर्ष के थे और काफी दिनों से बीमार चल रहे थे। पटवा ने निजी अस्पताल में अंतिम सांस ली, पटवा का अंतिम संस्‍कार 29 दिसम्‍बर को नीमच के कुकडेश्‍वर में दोपहर 1 बजे किया जाएगा। आज शाम को 3 बजे उनका पार्थिव शरीर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यालय में अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा। पटवा के निधन पर केबिनेट की बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री को श्रद्धांजली दी गई, इसके बाद बैठक रद्द कर दी गई, मुख्यमंत्री रमन सिंह ने प्रदेश में 3 दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है। पटवा का राजनीतिक सफर- 20 जनवरी, 1980 से 17 फरवरी, 1980 तक प्रदेश के मुख्‍यमंत्री, सन 1990 के विधान सभा चुनाव में सदस्‍य निर्वाचित एवं 5.3.1990 से 15.12.1992 तक मुख्‍यमंत्री रहे, 1993 में पुन: विधान सभा सदस्‍य निर्वाचित, 1980 में सीहोर से विधान सभा सदस्‍य निर्वाचित होकर भा.ज.पा. के नेता एवं सदन में विरोधी दल के नेता, 1985 में पुन: विधान सभा सदस्‍य चुने गए तथा लोक लेखा समिति के सभापति एवं सामान्‍य प्रयोजन समिति के सदस्‍य रहे,  1986 से भा.ज.पा. के प्रदेशाध्‍यक्ष, 1941 से इन्‍दौर राज्‍य प्रजा मण्‍डल एवं 1942 से राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ से सम्‍बद्ध, 1947 से 1951 तक संघ प्रचारक एवं 1948 से संघ आंदोलन में सात माह जेल यात्रा, 1951 से जनसंघ के सक्रिय कार्यकर्ता, 1957 से 1967 तक विधान सभा सदस्‍य एवं विरोधी दल के मुख्‍य सचेतक, 1967 से 1974 तक जिला सहकारी बैंक के अध्‍यक्ष, 1975 में म.प्र. जनसंघ के महामंत्री, 27 जून, 1975 से 28 जनवरी, 1977 तक आपातकाल में मीसा में निरूद्ध,1997 में छिंदवाड़ा से लोकसभा उपचुनाव में विजयी, वाजपेयी सरकार में दो साल मंत्री

Share This Post

Post Comment