अग्नि-5 के सफल टेस्ट से डरा चीन, यूएन में करेगा शिकायत

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः भारत ने जैसे बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि5 का सफल परीक्षण किया उसके बाद से चीन और पाकिस्तना दोनों देशो की नींद उड़ी हुई है। लेकिन पाकिस्तान से ज्यादा तो चीन परेशान आने लगा है। चीन ने भारत के इस मिसाइल को लेकर यूएन में शिकायत करने की बात कही है। दरअसल अग्नि 5 के परिक्षण के बाद चीन ने कहा था कि वे आशा करते हैं कि मिसाइल को बनाने के लिए अंतरराष्ट्रीय दायित्वों का पालन किया गया होगा। वहीं इस मामले पर चीन को जवाब देते हुए भारत की तरफ से विदेश मंत्रालय ने सफाई देते हुए कहा कि भारत का अग्नि-5 को बनाने का मकसद किसी देश को निशाने पर लेना नहीं है। इसके साथ उन्होंने कहा कि भारत के द्वारा किसी भी अंतरराष्ट्रीय समझौते का उल्लंघन किया गया है। भारत ने कुछ दिनों पहले ही इस स्वदेशी तकनीक से विकसित अंतरमहाद्वीपीय सतह से सतह पर मार करने वाली परमाणु सक्षम बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-5 का सफलतापूर्वक परीक्षण किया था। गौरतलब हो की अग्नि 5 मिसाइल परीक्षण ओडिशा के बलासोर जिले में अब्दुल कलाम द्वीप से किया गया था। इस तरह भारत न्यूक्लियर-कैपेबल इंटर-कांटिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) के विशिष्ट देशों के समूहों के और करीब आ गया है। अग्नि-5 के भारतीय सेना में शामिल हो जाने के बाद भारत आईसीबीएम समूह के विशिष्ट देशों की श्रेणी में शामिल हो जाएगा। इस श्रेणी में अमेरिका, रूस, चीन, फ्रांस और ब्रिटेन शामिल हैं। स्वदेश में निर्मित यह मिसाइल परमाणु हथियारों सहित 5000 किलोमीटर की रेंज तक निशाना बना सकती है। इसकी पहुंच उत्तरी चीन तक संभव है जिसके बाद से ही चीन डरा हुआ है।

Share This Post

Post Comment