ज्वैलरी चोरी के आरोप में कारीगर समेत दो गिरफ्तार

देहरादून, उत्तराखंड/नगर संवाददाताः देहरादून जिले की सहसपुर पुलिस ने ज्वैलरी चोरी की घटना का खुलासा करते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। जबकि उसका दूसरा साथी कोलकाता में दबोचा गया है। जिसे पुलिस ट्रांजिट बेल पर दून लाने की तैयारी कर रही है। चोरी की यह वारदात 11 दिसंबर को सामने आई थी। पुलिस की इस कामयाबी पर जहां एसएसपी ने ढाई वहीं पीड़ित ज्वैलर्स ने ग्यारह हजार रुपए पुलिस टीम को इनाम देने की घोषणा की है। दरअसल, सेंट्रल होप टाउन सेलाकुई निवासी रमेश कुमार की धामावाला में ज्वैलरी शॉप है. सेलाकुई में उनकी केदारनाथ इंडस्ट्री के नाम से ज्वैलरी का वर्कशॉप है, जहां पर ज्वैलरी बनाई जाती है। बीते 11 दिसंबर को उनका कारीगर पश्चिम बंगाल के पाटा हुगली निवासी सुकात्तो सरकार ज्वैलरी शॉप से करीब 12 तोला सोने के आभूषण लेकर वर्कशॉप के लिए निकला था, लेकिन उसके बाद से फरार चल रहा था। मामले की पुलिस जांच कर रही थी। मामले का खुलासा करते हुए सीओ विकासनगर पंकज गैरोला ने बताया कि 22 दिसंबर को कारीगर   सुकातो सरकार को पश्चिम बंगाल पुलिस के क्रिमिनल इंवस्टिगेशन डिपार्टमेंट एंटी थेप स्क्वाइड की मदद से दून पुलिस ने कोलकाता रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार किया। पूछताछ में उसने बताया कि उसने कुछ ज्वैलरी मेरठ निवासी अपने साथी फिरोज पुत्र शमशाद निवासी लिसाड़ी गैस मेरठ (यूपी) को दी है। जिस पर पुलिस ने 23 दिसंबर को मेरठ से फिरोज की गिरफ्तार की। उसके पास से सात सोने की अंगूठी बरामद हुई है। सीओ ने बताया कि आरोपी कारीगर सुकात्तो सरकार को ट्रांजिट बेल पर दून लाने की तैयारी की जा रही है। दोनों आरोपी दोस्त हैं और पश्चिमबंगाल के ही रहने वाले हैं। दोनों के अपराधिक इतिहास को खंगाला जा रहा है। मामले के खुलासे पर एसएसपी ने पुलिस टीम को ढाई हजार ईनाम देने की घोषणा की है। वहीं ज्वैलर्स रमेश कुमार ने पुलिस की त्वरित कार्रवाही पर पुलिस टीम को ग्यारह हजार रुपये ईनाम दिया है। पुलिस टीम में एसओ मुकेश त्यागी, दारोगा भुवन चंद्र पुजारी, अशोक राठौर, विनय गुसांई आदि लोग मौजूद रहे।

Share This Post

Post Comment