बैग में भरे थे नोट और जेवर, पुलिस कह रही खोलकर देखे तो बिस्किट था

रायपुर, छत्तीसगढ़/मयूर जैनः ग्राम ओड़ेकेरा के एक युवक ने जैजैपुर पुलिस पर सनसनीखेज आरोप लगाया है। युवक का आरोप है कि ओड़ेकेरा और जैजैपुर के बीच उसे नोट और जेवर से भरा एक बैग मिला था, जिसे उसने जैजैपुर पुलिस के सुपुर्द किया था। पुलिस ने जेवर और नोट को बदलकर उस बैंग में पारलेजी कंपनी की बिस्किट भर दी। यह काम पूरी गोपनीयता के साथ किया गया। युवक के इस आरोप ने पुलिस महकमे की कार्यशैली पर निशान लगा दिए हैं। पुलिस थाना जैजैपुर के अंतर्गत ग्राम ओड़ेकेरा निवासी विजय बंजारे का कहना है कि सोमवार की दोपहर वह अपने साथी के साथ बाइक पर सवार होकर मोबाइल खरीदने के लिए ओड़ेकेरा से जैजैपुर जा रहा था। बीच रास्ते में कैंप लगाकर पुलिस वाहनों की जांच कर रही थी। वहां से कुछ दूर वह आगे बढ़ा ही था, तभी एक स्कापियों उसके पास पहुंची और उसमें सवार लोगों ने वाहन का दरवाजा खोलकर एक बैग बाहर की ओर फेंका। इसके बाद वाहन में सवार लोग भाग निकले। बाइक को रोक जब बैग को उठाकर देखा तो बैग के चैन में ताला लगा हुआ था, लेकिन बैग के नीचे हिस्से तरफ देखने में अंदर नोट के बंडल तथा जेवर होने की जानकारी मिली। बैग को लेकर वह जैजैपुर थाने पहुंचा, जहां कुछ पुलिसकर्मी मौजूद थे। वस्तुस्थिति से अवगत कराते हुए उनसे बैग को खोलने आग्रह किया, लेकिन थाना प्रभारी के वहां मौजूद नहीं होने की बात कहते हुए स्टाफ ने बैग खोलने से इंकार कर दिया। युवक विजय बंजारे का कहना है कि पुलिसकर्मियों के कहने पर वह अपने घर चला गया। कुछ घंटे बाद जब वह दोबारा थाने पहुंचा और थाना स्टॉफ से जानकारी चाही तो स्टॉफ ने फिर वहीं बात दोहराई, जो पहले कही थी। देर शाम उसे पता चला कि पुलिस ने बैग को खोल लिया है, जिसमें से पारलेजी बिस्किट के 20 पैकेट निकलने की बात कही जा रही है। मंगलवार की सुबह जब उसने पुलिस से बैग के संबंध में जानकारी चाही तो उसे बताया गया कि बैग में नोट और सोने-चांदी नहीं बल्कि, बिस्किट रखे थे। युवक विजय का आरोप है कि पुलिस ने बैग में रखे नोट और जेवर को बदलकर उसकी जगह बिस्किट रख दिया है। स्थानीय पुलिस ने इस काम को पूरी गोपनीयता से अंजाम दिया है, ताकि किसी को सच्चाई का पता न चल सके। इस मामले में मंगलवार की शाम तब नया मोड़ आया, जब मीडिया ने इस मामले को लेकर पुलिस अधिकारियों से जवाब-तलब शुरू किया। उसी दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पंकज चंद्रा ने जैजैपुर के थानेदार दुर्योधन बंजारे को फोन कर उससे पूरी जानकारी मांगी, तब थानेदार बंजारे ने बताया कि बैग को खोला गया तो उसमें सौ-सौ के 14 नोट ऊपर के हिस्से में रखे हुए थे। उसके नीचे थर्माकोल था। निचले हिस्से में पारलेजी के बिस्किट के 20 पैकेट थे। थानेदार ने इस बात को स्वीकार किया है कि बैग खोलते समय विजय को नहीं बुलाया गया था, लेकिन थाना स्टाफ मौजूद थे। बैंक खोलने के दौरान वीडियोग्राफी कराई गई है।

Share This Post

Post Comment