जोधपुर का एक और लाल सियाचीन में शहीद

जोधपुर, राजस्थान/जनक सिंह भाटीः लवेरा बावड़ी उपखंड क्षेत्र के खारी खुर्द गांव का सपूत ग्रेनेडियर डूंगर राम मुण्डक शुक्रवार को देश के लिए शहिद हो गये। शनिवार को डुंगर राम के शहिद होने की खबर मिलते ही पूरा गांव शोक में डूब गया। शहिद के घर में दुखो का पहाड़ टूट पड़ा। बाद में परिजनों को सांत्वना देने वालों की भीड़ उमड़ पड़ी। जिला सैनिक कल्याण अधिकारी ले. कर्नल आर. एस. राठौर ने बताया कि देश के लिए शहीद के पार्थिव शरीर को रविवार सियाचीन से दिल्ली लाया गया। बाद में दिल्ली से जोधपुर लाकर शहिद के पैतृक गांव लाया गया। रक्षा प्रवक्ता ले. कर्नल मनीष ओक्षा ने बताया कि 18 ग्रेनेडियर में कार्यरत ग्रेनेडियर्स डुंगर राम को शुक्रवार को सांस लेने में तकलीफ व कफ की शिकायत हुई। उसके बाद उन्हें कम ऊंचाई वाले क्षेत्र में ले जाकर उपचार कराया गया। लेकिन 17 दिसंबर को मध्यरात्री 12:45 बजे डूंगर राम ने देश के लिए प्राण न्यौछावर कर दिये। देश के लिए शहिद की सूचना से पिता अणदा राम, भाई रामदीन, पत्नी हवा देवी समेत सभी परिजनों पर दुखो का पहाड टूट पडा। शहिद 2 साल पहले सेना में भर्ती हुआ था। शहिद सैनिक का दो साल का पुत्र दिलीप भी है। शहिद ने प्राथमिक शिक्षा आदर्श बाल निकेतन बावड़ी से ग्रहण की। स्कूल संस्थापक श्री नरपत सिंह शेखावत ने कहां की शहिद शिक्षा क्षेत्र में भी अग्रणी रहा है।

Share This Post

Post Comment