मोदी जी! संसदीय सचिव रेस्ट हाउस में बुलाकर करते हैं अश्लील बातें, मुझे बचा लो

रायपुर, छत्तीसगढ़/मयूर जैनः संसदीय सचिव गोवर्धन मांझी के खिलाफ एक एनजीओ संचालिका को रात में रेस्ट हाउस में बुलाकर उससे अश्लील व्यवहार किए जाने के आरोप लगे हैं। पीडि़ता ने इसकी लिखित शिकायत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेजी है। पीएमओ ने मुख्य सचिव को इस शिकायत की जांच कर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं। पीडि़ता ने इस शिकायत की पुष्टि की है। महासमुंद की यह युवती कुछ समय से गरियाबंद के मैनपुर ब्लॉक में एनजीओ का संचालन कर रही है। उसने मोदी को लिखे पत्र में बताया कि गत 31 जुलाई को बिंद्रानवागढ़ के भाजपा विधायक और संसदीय सचिव गोवर्धन मांझी ने उसे रेस्ट हाउस में बुलाया। रात साढ़े 8 बजे जब वह एक स्टाफ के साथ वहां पहुंची तो विधायक ने मुलाकात और परिचय जानने के बहाने अश्लील और अभद्र बातें की। उसे देर रात तक घर नहीं जाने दिया। पत्र में यह गुहार लगाई कि उसे संसदीय सचिव और उनके समर्थकों की तरफ से दी जा रही प्रताडऩा और धमकियों से निजात दिलाई जाए। युवती ने प्रधानमंत्री को भाई के संबोधन से पत्र लिखा है। पीडि़ता के अनुसार घटना के बाद से उसके मोबाइल पर धमकियां मिल रही हैं। इसमें यह हिदायत दी जा रही है कि एनजीओ का काम बंद करो या फिर दो दिन के लिए मांझी के पास चली जाओ। जब उसने ऐसा करने से इंकार कर दिया तो उसके क्षेत्र के एक अफसर ने मौखिक रूप से एनजीओ के कामकाज का ब्यौरा मांगा।

Share This Post

Post Comment