आयकर विभाग की टीम ने धनबाद के छह पेट्रोल पंपों पर की जांच

धनबाद, झारखंड/नगर संवाददाताः आठ नवंबर से नोटबंदी के बाद पेट्रोल पंपों की हुई कमाई और आय व्यय को लेकर आयकर विभाग ने जांच शुरू कर दी है।आयकर विभाग की टीम ने बुधवार को धनबाद छह पेट्रोल पंपों पर पहुंचकर आठ नवंबर के बाद की कमाई की डिटेल खंगाली। इसके अलावा देवघर और अन्य जिलों में भी आईटी जांच चल रही है। केन्द्र सरकार के आदेश पर आईटी की टीम जहां काले धन को सफेद करने की जांच कर रही है। वही झारखंड पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन ने आईटी और केन्द्र सरकार की कार्रवाई पर विरोध जताया है। जेपीडीए के प्रदेश अध्यक्ष अशोक कुमार सिंह का कहना है कि एक तरफ नोटबंदी के बाद सरकार ने 8 नवंबर से 2 दिसंबर के बीच उन्हें बैंकोंं की तरह ही काम लिया और अब जिस तरीके जांच के नाम पर प्रताडि़त किया जा रहा है। अगर आईटी विभाग को पेट्रोल पंपो से कोई जानकारी चाहिए वे नोटिस करें सभी लोग अपने हिसाब किताब का पूरा ब्यौरा विभाग को सौंप देंगे। गौरतलब है कि आयकर विभाग के पटना सर्किल के प्रधान निदेशक अन्वेषक के आदेश पर इन दिनों धनबाद सहित कई जिलों के पेट्रोल पंपों की ओर से बैंकों में जमा कराये गये 500 और एक हजार नोट की छानबीन की जा रही है।

Share This Post

Post Comment