नौकरशाहों ने “आप” सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः अधिकारों को लेकर दिल्ली सरकार और उपराज्यपाल नजीब जंग के बीच टकराव चल ही रहा है। अब नौकरशाहों ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। दिल्ली के वरिष्ठ आइएएस व दानिक्स अधिकारियों के संगठनों ने संयुक्त रूप से सोमवार को सरकार के खिलाफ प्रस्ताव पास किया। उन्होंने सरकार के प्रतिनिधियों के व्यवहार पर सवाल खड़े किए। नौकरशाहों व सरकार के बीच जंग होने से सरकार का कामकाज प्रभावित हो सकता है। एजीएमयूटी कैडर आइएएस एसोसिएशन व दानिक्स एसोसिएशन ने शाम 6.45 बजे राजघाट के नजदीक गांधी दर्शन कॉम्प्लेक्स के टैगोर हॉल में बैठक की। इसमें कई वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए। उनका आरोप है कि सरकार के प्रतिनिधि अधिकारियों के खिलाफ आपत्तिजनक व अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल करते हैं। सरकार के साथ होने वाली बैठकों में बिना किसी कारण फटकार लगाई जाती है। प्रतिनिधि न्यूनतम मर्यादा का भी पालन नहीं करते हैं। इससे उन्हें ठेस पहुंच रही है। बैठक में यह प्रस्ताव पास किया गया कि अधिकारी बिना किसी डर के भारतीय संविधान के अनुसार कानून के दायरे में रहकर सभी कार्य करें। जनता के हित में पूरे दिल से काम करें। उन्होंने सरकार से अपील की कि प्रतिनिधि अच्छा बर्ताव करें। गलत आरोप व आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल बंद करें। संगठनों ने आरोप लगाया है कि उन्हें मीडिया के सामने भी अपना पक्ष नहीं रखने दिया जाता है। कई मौके पर सरकार व नौकरशाही के बीच टकराव की बातें सामने आ चुकी हैं। हाल ही में दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा था कि स्वास्थ्य सचिव ने गाड़ी नहीं होने की बात कहकर लोकनायक अस्पताल चलने से इन्कार कर दिया।

 

Share This Post

Post Comment