देर रात 100 के करीब झोपड़ियां जल कर राख

पटना, बिहार/नगर संवाददाताः राजधानी पटना में शुक्रवार देर रात 100 के करीब झोपड़ियां जल कर राख हो गई। घटना में एक महिला की जलकर मौत हो गई जबकि चार लोग मामूली रूप से जख्मी हुए हैं। मृतका सोनी देवी की शादी एक साल पहले ही हुई थी। घटना पटना के मोइनुल हक स्टेडियम के पास की है। मामले की गंभीरता को देखते हुए कंकड़बाग, पटना सिटी,लोदीपुर फायर स्टेशनों से आए दस दमकलों ने रात लगभग 12 बजे आग पर काबू पाया गया। सूचना के आधा घंटे बाद फायर ब्रिगेड की 10 गाड़ियां मौके पर पहुंची और करीब डेढ़ घंटे में आग पर काबू पाया गया। आशंका जाहिर की जा रही है कि आग या तो पटाखे की चिंगारी से लगी या फिर खाना बनाने के दौरान किसी झोपड़ी में सिलेंडर फटने से लपटों के कारण झोपड़ियों में रखे आधा दर्जन छोटे व बड़े सिलेंडर भी फट गए। सिलेंडर के फटने की आवाज दूर तक सुनाई दी, जिससे आसपास के लोग सहम गए।बताया जा रहा है कि धनतेरस की रात लोग बर्तन व अन्य छोटे-मोटे सामान लेकर झोपड़ियों में लौटे थे. इसी बीच अचानक आग लग गई. देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया. आग की लपटें उठने लगीं और धू-धूकर झोपड़ियों में रहने वालों लोगों का आशियाना जल गया। लोग किसी तरह बच्चों को लेकर भागे. सोनी देवी सोयी हुई थी। उसे उठने में देर हो गई। नतीजतन आग ने उसे पूरी तरह अपने चपेट में ले लिया। गंभीर हालत में उसे अस्पताल ले जाया गया लेकिन उसकी मौत हो गई। पीड़ितों में इस इस बात का गुस्सा था कि मौके पर कोई वरीय अधिकारी नहीं पहुंचे। पीड़ितों ने रो-रोकर बताया कि धनतेरस के दिन लगभग सभी के यहां नए बर्तन व अन्य सामान खरीदे गए थे। इस हादसे में नए बर्तन व अन्य सामान भी जल गए।

Share This Post

Post Comment