540 फीट गहरे बोरवेल में गिरे 2 साल के आदर्श की मौत

सीकर, राजस्थान/नगर संवाददाताः राजस्थान के शेखावाटी इलाके में शुक्रवार दोपहर एक दो साल का बच्चा आदर्श 540 फीट गहरे बोरवेल में गिर गया। सीकर जिले के नीमकाथाना इलाके के दीपावास में हुए इस हादसे के बाद से बोरवेल से बच्चे के रोने की आवजें आती रही। ये आवाजें आदर्श के परिजनों को ही नहीं किसी को भी रुला देने वाली थी। मौत के कुएं में गिरे आदर्श को बचाने के लिए तुरंत ही ग्रामीण अपने स्तर पर जुट गए, पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और जेसीबी से बोरवेल के पास खुदाई शुरू हो गई। हालांकि एनडीआरएफ की एक्सपर्ट टीम मौके पर पहुंचती इससे पहले ही ग्रामीणों के जुगाड़ से बच्चे को 4 घंटे की कड़ी मेहनत के सकुशल बाहर निकाल लिया गया था। इसके बाद बच्चे की तबीयत बिगड़ने लगी। इसके बाद एंबुलेंस को बुलाया गया। एंबुलेंस से बच्चे को नीमकाथाना के अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। जानकारी के अनुसार आदर्श करीब 40 फीट पर फंसा हुआ था। बच्चे की आवाजें सुनकर उसे बचाने के लिए ग्रामीण जी जान से जुट गए। स्थानीय प्रशासन की ओर बोरवेल में ऑक्सीजन पहुंचाने की व्यवस्था की और समय रहते ही करीब चार घंटे बाद बच्चे को सकुशल बाहर निकाल लिया गया था। आदर्श को बोरवेल से निकाल कर नीमकाथाना ले जाया गया । यहां अस्पताल में भर्ती किया गया था और चिकित्सकों ने फिलहाल उसकी हालत स्थिर बताई थी, लेकिन कुछ समय बाद डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। गांव में आदर्श जिस बोरवेल में गिरा था वो खयालीराम के खेत में बना हुआ है। इसे दो दिन पहले ही खोदा गया बताया जा रहा है। कहा जा रहा है कि जिस पत्थर से बोरवेल का ढका गया था वह टूटने के कारण आदर्श उसमें गिर गया। यह बोरवेल करीब 540 फीट गहरा है।

Share This Post

Post Comment