कूड़ा या प्लास्टिक जलाने पर होगा पांच हजार जुर्माना

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः खुले स्थान पर कूड़ा या प्लास्टिक जलाने पर पांच हजार का जुर्माना देना होगा। इतना ही नहीं निर्माण कार्य में लगी कंपनी को निर्माण स्थल पर धूलकण फैलने से रोकने की कार्रवाई में ढिलाई बरतने पर पांच लाख का जुर्माना देगा होगा। ग्रीन ट्रिब्यूनल ने 2014 में इस आशय का आदेश दिया था जिसे दिल्ली सरकार ने दीवाली के समय सतर्कता से लागू करने का निर्णय लिया और एसडीएम, तहसीलदार, नगर निगम व डीडीए के अधिकारियों को जुर्माना वसूलने का अधिकार दे दिया। दिवाली के पूर्व राजधानी में कूड़ा जलाने पर व वायु प्रदूषण कम करने को लेकर पर्यावरण मंत्री इमरान हुसैन ने संबंधित विभागों की बैठक में कूड़ा जलाने,पत्ते जलाने प्लास्टिक व रबर जलाने पर कार्रवाई करने का निर्णय लिया। इस बैठक में पर्यावरण विभाग, तीनों निगमों के अधिकारी, एनडीएमसी, ट्रैफिक पुलिस, स्वास्य विभाग व डीपीसीसी के अधिकारियों ने हिस्सा लिया। हुसैन ने कहा कि दीवाली के साथ सर्दी भी शुरू हो रही है, जिसमें वायुमंडल में धूलकण की मात्रा में बढ़ोत्तरी होती है। अत: उन्होंने जाड़े के समय सभी विभागों को सतर्क ता बरतने कहा है।

Share This Post

Post Comment