आज के बदलते दौर मे भी जारी बैकुण्ड यात्रा दाह संस्कार

आज के बदलते दौर मे भी जारी बैकुण्ड यात्रा दाह संस्कार

नागौर, राजस्थान/भूराराम जांगिड़ः आज के बदलते दौर मे भी जारी है बैकुण्ड यात्रा दाह संस्कार। हिन्दु ब्राहमण वर्ग के सभी समाजों जॉगीड़ साद पंडित ब्राहमण मे आज भी अगर किसी बुजुर्ग व्यक्ती कि मौत होती है तो आज के बदलते युग मे भी घर से शमशान घाट तक सीढी पर सुला कर नही बल्कि एक झाँकि कि तरह बैकुण्ड बना कर गाजे बाजे के साथ उनकी अंतिम यात्रा निकाली जाती है। यह प्रथा आज भी हिन्दु वर्गो के सभी समाजो मे देखने को मिल जाती है। ऐसे कार्य में घर के कोई भी सदस्य रोते नही है बिल्कुल शांत रहते है।

Share This Post

Post Comment