जोबनेर पालिका उपाध्यक्ष लिपिका को 60 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ दबोचा

जयपुर, राजस्थान/गैंदी लाल कुमावतः भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने सोमवार को कार्यवाही करते हुए जोबनेर नगर पालिका के वॉइस चैयरमेन और लिपिका को घूस पकड़ा। निर्माण कार्य की मंजूरी के लिए इन्होने 60 हजार की रिश्वत ली थी। एसीबी जयपुर सीआई रणजीत सिंह ने बताया कि जोबनेर निवासी इसरार मोहम्मद राजेंद्र प्रसाद गोयल ने 13 अक्टूबर को एसीबी को शिकायत की थी कि उन्होंने एक मकान बनाने की स्वीकृति के लिए नगरपालिका कार्यालय में आवेदन किया था। जिसमें भवन निर्माण की स्वीकृति दिलवाने के बदले नगरपालिका उपाध्यक्ष परमवीरसिंह तथा कनिष्ठ लिपिक ने 70 हजार रुपए की रिश्वत मांगी है। इसमें से उसने 10 हजार पहले ही दे दिए हैं। एसीबी के अधिकारियों ने मामले का सत्यापन कराया तो मामला सही निकला। शिकायतकर्ताओं ने सोमवार शाम दोनों आरोपियों को बाकी की रकम लेने के लिए बुलाया था। इस पर दोनों आरोपियों ने उन्हें शाम करीब साढे़ पांच बजे माताजी के रास्ते में स्थित आरोपी कनिष्ठ लिपिक महिपाल की दुकान में बुला लिया। वहां पर शिकायतकर्ता और आरोपियों के बीच लेन देन चल रहा था। उसी दौरान पहले से वहां मौजूद एसीबी की टीम को इशारा मिलते ही दोनों आरोपियों को मौके पर 60 हजार रुपए की नगद राशि के साथ पकड़ लिया तथा दोनों आरोपियों के हाथ धुलवाए। जिनसे उनके हाथ लाल हो गए। एसीबी अधिकारियों की तीन घंटे तक कार्रवाई चली। एसीबी अधिकारी रणजीत सिंह ने बताया कि दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और मंगलवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

Share This Post

Post Comment