पैरो से लाचार पर दिमाग से बेहद शातिर कई राज्यो में ठगी करने वाला शातिर गिरफ्तार

पटना, बिहार/शिवशंकर लालः दोनों पैरों से लाचार पर दिमाग का बेहद शातिर फ़र्ज़ीवाड़े में मास्टर और सरकारी नौकरी के नाम पर सैकड़ो बेरोजगारों से लाखो रूपये ठग लेने वाला नालन्दा निवासी नवीन कुमार निश्चल को आखिरकार एसएसपी मनु महाराज के निर्देश पर एसआईटी और हैदराबाद पुलिस की संयुक्त टीम ने कदमकुआं थाना क्षेत्र के नाला रोड से एक किराये के मकान से गिरफ्तार कर लिया। 2003 में भी नवीन गांधी मैदान थाने से कोर्ट में क्लर्क ग्रेड की परीक्षा का प्रश्न पत्र लिक काण्ड में चालान किया जा चुका है। अपने खुरापाती और शातिर दिमाग की वजह से दोनों पैरों से लाचार व्हील चेयर की मदद से घूमने वाला मूल रूप से नालन्दा के नूरसराय के मैयार का रहने वाले नवीन की कहानी सुनकर आप भी दंग रह जाएंगे।बिहार की बात क्या कहे इस दिब्याग ने एमपी हैदराबाद,दिल्ली और तेलंगाना समेत कई राज्यो में सरकारी नौकरी दिलाने और परीक्षा केंद्रों पर स्कॉलर बिठाने से लेकर, प्रश्न पत्र लिक करने खातिर बहुत बड़ा नेटवर्क तैयार कर रखा है। खासकर एलडीसी, जेल महकमा और रेलवे में क्लर्क ग्रेड की परीक्षाओं में सेटिंग करने वाले गिरोह का मास्टर माइंड नवीन है। कई बार जेल की हवा खा चुके इस शातिर ने सरकारी नौकरी लगाने के नाम सैकड़ो लोगो से ठगी की है और लगातार ये काम करता रहता है।पटना पुलिस द्वारा वर्ष 2003 में और भोपाल पुलिस द्वारा 2011 में गिरफ्तार कर चालान कर जेल भेजे जाने के बावजूद लगातार यह अपने गिरोह के संग ठगी और फ़र्ज़ी वाड़े के जरिये युवकों को सरकारी नौकरी दिलाने और प्रश्न पत्र लिक के धंधे से जुड़ा रह कर पैसो को उगाही करता रहता है। हैदराबाद और तेलंगाना में भी नवीन के खिलाफ धोखाधड़ी और ठगी समेत अन्य धाराओं में कई मामले दर्ज है। इसी सिलसिले में हैदराबाद पुलिस की एक टीम पटना आई और एसएसपी मनु।महाराज से संपर्क कर इस शातिर के खिलाफ दर्ज मामलों की जानकारी देते हुए गिरफ़्तार करने में सहयोग की मांग की। पूर्व में मिली इस शातिर के बाबत शिकायतों और हैदराबाद पुलिस द्वारा मामले की जानकारी मिलने पर एसएसपी ने हैदराबाद पुलिस कल पटना एसआईटी टीम के साथ अटैच करते हुए शातिर नवीन की गिरफ्तारी की प्रक्रिया शुरू करवाई। लगातार नज़र रखने और पहचान मुकम्मल होने पर दोनों टीमों ने संयुक्त कार्रवाही कर शातिर नवीन को गिरफ्तार कर लिया। पटना में वर्त्तमान में कोई मुआमला दर्ज नहीं होने की वजह से हैदराबाद पुलिस इसे कोर्ट में पेश कर ट्रांजिट रिमांड पर अपने साथ ले जाने की प्रक्रिया करने में जुटी है। वही पटना पुलिस शातिर से पूछताछ कर गिरोह से जुड़े अन्य शातिरों की गिरफ्तारी का अभियान चला रही है।

Share This Post

Post Comment