मोदी ने अपने सहयोगियों से कहा सर्जिकल स्ट्राइक पर बयानबाजी न करें

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को मंत्रिमंडल के अपने सहयोगियों और बीजेपी नेताओं से कहा कि भारतीय सेना की ओर से एलओसी के पार की गई सर्जिकल स्ट्राइक पर अपनी पीठ न थपथपाएं। उन्होंने कहा कि जो सार्वजनिक बयान देने के लिए अधिकृत हैं, सिर्फ वही लोग इस मुद्दे पर बोलें। प्रधानमंत्री मोदी की यह सलाह ऐसे समय में आई है, जब सेना की सर्जिकल स्ट्राइक का सियासी फायदा लेने और इसका राजनीतिकरण करने को लेकर विपक्षी दलों ने केंद्र सरकार की आलोचना की है। सेना ने यह कार्रवाई 28-29 सितंबर की रात की थी और इस दौरान एलओसी के पार पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में आतंकवादियों के सात लॉन्च पैड ध्वस्त कर दिए गए थे। पीएम मोदी ने बुधवार को मंत्रिमंडल की बैठक और सुरक्षा पर कैबिनेट कमेटी की बैठक की अध्यक्षता भी की। यह बैठक ऐसे समय में हुई है, जब भारत-पाकिस्तान सीमा पर लगातार तनाव बना हुआ है। 18 सितंबर को उरी हमले के बाद से ही सीमा पर तनाव बना हुआ है। जम्मू-कश्मीर के उरी में सेना के शिविर पर हुए हमले में 19 सैनिक शहीद हो गए थे। भारत ने इस हमले के लिए पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन, जैश-ए-मोहम्मद को जिम्मेदार ठहराया है।

Share This Post

Post Comment