मुफ्त में मछली न देना पड़ा भारी

नालंदा, बिहार/नगर संवाददाताः बिहार के नालंदा में एक महादलित को मुफ्त में मछली न देना इस कदर भारी पड़ा कि उसे अपनी जान तक गंवानी पड़ी. घटना जिले के गिरियक थानाक्षेत्र के केरुआ गांव की है. गांव के महादलित समुदाय के एक बुजुर्ग की ग्रामीणों ने मुफ्त में मछली नहीं देने पर जमकर पिटाई कर दी जिससे वह गंभीर रुप से घायल हो गया. उसे इलाज के लिए बिहारशरीफ में भर्ती कराया गया जहां उसकी मौत हो गयी. मृतक का नाम राजो मांझी था जो गांव के खंधा में मछली मार रहा था. इस दौरान सरावा के दयानंद सिंह समेत दो लोगों ने रंगदारी के रूप में मछली की मांग की. राजो मांझी ने मुफ्त में मछली देने से इंकार कर दिया तब गुस्साए दोनों लोगों ने लाठी डंडे से राजो मांझी की जमकर पिटाई कर दी और उसका हाथ-पैर तोड़ डाला. ग्रामीणों ने उसे इलाज के लिए बिहारशरीफ स्थित एक निजी क्लिनिक में भर्ती कराया जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी. घटना की सूचना मिलते ही गिरियक थाने पुलिस मामले की जांच में जुटी. इस मामले में अब तक कोई केस दर्ज नही हुआ है.

Share This Post

Post Comment