एक फौजी ने दिया नीतीश के पूर्ण शराबबन्दी को जबरदस्त झटका

पटना, बिहार/शिव शंकर लालः “मिशन 2019″ की तैयारी में भिड़े नीतीश कुमार के सबसे बड़े मुद्दे को “पूर्ण शराबबंदी” को एक फौजी ने ही जनहित याचिका दायर कर झटका दे दिया है। भूतपूर्व सैनिक अवध नारायण सिंह द्वारा पटना हाईकोर्ट में दायर जनहित याचिका में बिहार सरकार द्वारा शराबबंदी के फैसले को चुनौती देते हुए कहा था कि किसी भी सरकार को जनता के खाने-पीने या उसकी पसंद-नापसंद पर रोक लगाने का कोई हक नहीं है। इसी याचिका और अन्य याचिकाओं पर बहस करने के बाद हाई कोर्ट ने बिहार   में नीतीश सरकार को पटना हाईकोर्ट से झटका लगा है। बिहार में शराबबंदी कानून को पटना हाईकोर्ट ने रद्द कर दिया है। पटना हाईकोर्ट ने शराबबंदी एक्ट को गैरकानूनी बताया है। कोर्ट ने कहा कि शराबबंदी लागू करने का तरीका ठीक नहीं है। उल्लेखनीय है कि पिछले साल 2015 में विधानसभा चुनाव जीतने के बाद 1 अप्रैल से नीतीश कुमार ने पूरे राज्‍य में पूर्ण शराबबंदी कानून लागू किया था। इस कानून के खिलाफ अप्रैल में पटना उच्च हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई थी। इस याचिका में शराबबंदी के फैसले को आम आदमी को संविधान में मिले अधिकार का हनन बताया गया था।

Share This Post

Post Comment