इमरान खान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भारत-पाकिस्तान के बीच शांति की पेशकश की

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः क्रिकेटर से नेता बने इमरान खान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भारत-पाकिस्तान के बीच शांति की पेशकश की है. इमरान खान ने कहा कि आप ऐसा मत सोचिए कि पाकिस्तान में हर कोई नवाज शरीफ की तरह है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी दोस्ती के लिए तैयार है, क्योंकि दो परमाणु शक्तियों के बीच युद्ध किसी भी समस्या का हल नहीं है. पाकिस्तान की तारीक-ए-इंसाफ के प्रमुख इमरान खान ने पाकिस्तान में एक बड़ी रैली को संबोधित करते हुए कहा, ”हम शांति चाहते हैं. हम दोस्ती के लिए तैयार हैं यदि आप (मोदी) की इच्छा हो तो. मैं शांति की पेशकश करता हूं क्योंकि युद्ध समस्याओं का कोई हल नहीं है.” इमरान खान ने कहा कि जब वह मोदी से भारत में मिले थे तो उनसे कहा था कि दोनों देशों के बीच शांति प्रक्रिया को लोगों का एक छोटा समूह पटरी से उतारना चाहता है, लेकिन जब उरी घटना हुई तो भारत ने बिना जांच के पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहरा दिया और पीएम मोदी ने पाकिस्तान को धमकी देनी शुरू कर दी. इमरान ने पीएम मोदी से पानी रोकने और सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में बात नहीं करने की अपील की. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान एकजुट है और किसी भी हमले के लिए अपनी सेना के साथ खड़ा रहेगा. उन्होंने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को संबोधित करते हुए कहा कि हर पाकिस्तानी नवाज शरीफ की तरह कायर नहीं है. इमरान ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि युद्ध हुआ तो भारत को अधिक नुकसान उठाना पड़ेगा. साथ ही कहा कि यदि भारत ने पाकिस्तान के साथ शांति के स्थान पर युद्ध को तरजीह दी तो पीएम मोदी का शाइनिंग इंडिया का सपना कभी पूरा नहीं होगा. उन्होंने यह भी कहा कि नवाज का वक्त पूरा हो गया है. उन्हें जाना होगा. यह हमारा दुर्भाग्य है कि वह हमारे प्रधानमंत्री हैं. इमरान ने कहा कि हम कश्मीर हालात के कारण उसका समर्थन करते हैं. हम कश्मीर का साथ तब भी देते अगर वहां हिंदू या ईसाई भी रह रहे होते. साथ ही कहा कि पीएम मोदी अगर पाकिस्तान को अलग-थलग करते हैं तो वे देश के अंदर ही खूब पैसा बना लेंगे और किसी के कर्जदार नहीं रहेंगे.

Share This Post

Post Comment