अमेरिका ने कहा आतंकवाद से निपटने को हम हर हाल में भारत के साथ

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः अमेरिका ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ भारत के हर प्रयास के साथ हम ख़ड़ें हैं। हम आतंकवाद के खात्मे के लिए लिए गए भारत के सभी फैसले में उसका साथ देने के लिए तैयार हैं। यह दो देशों के आतंकवाद के खात्मे का दृढ़ निश्चय है। गुरुवार को भारत ने जैसे ही प्रेस कांफ्रेंस करके बताया कि हमने सीमापार घुसकर आतंकवादी मार गिराए हैं उसके कुछ देर बाद ही अमेरिका ने उच्चायुक्त से बात की और भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोवाल से भी बात की। अमरिका के उच्चायुक्त सुसन राइस ने अजीत डोवाल से बात करके कहा कि हम भारत के साथ आतंकवाद के प्रयासों में हर हाल में खड़े रहने को प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने पाकिस्तान को भी धमकाते हुए कहा कि उसे आतंकवाद के खिलाफ पूरी दुनिया का साथ देना चाहिए और आतंकियों के खिलाफ कड़े कदम उठाने चाहिए। संयुक्त राष्ट्र भी पाकिस्तान से ऐसी ही अपेक्षा रखता है। अमेरिका ने ये भी कहा कि क्षेत्र में आतंकवाद से वो भी चिंतित है। अमेरिका के प्रवक्ता ने कहा कि निश्चित रूप से उड़ी पर बड़ा आतंकी हमला हुआ था जिससे तनाव बढना तय था। हालांकि उन्होंने भारत-पाकिस्तान के बीच बात-चीत बढाने पर भी जोर दिया। गुरुवार को भारत ने घोषणा की थी कि हमने बुधवार रात को एलओसी पार के कई आतंकी ठिकानों पर हमला किया है। उसमें करीब 38 आतंकवादी मारे गए हैं। विश्व समुदाय इस घटना के बाद मौन रूप से भारत के समर्थन में है जबकि अमेरिका ने खुलकर भारत के इस कदम का साथ दिया है। यह एक बड़ी कूटनीतिक जीत भी मानी जा रही है। भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक को रात को अंजाम दिया। भारत के डीजीएमओ ने प्रेस कांफ्रेंस करके बताया कि हमारे पास और कोई विकल्प नहीं था। पाकिस्तान ने किसी भी तरह के स्ट्राइक से इंकार किया है और कहा कि उसके दो जवान क्रास बॉर्डर फायरिंग में मारे गए हैं।

Share This Post

Post Comment