पुलिस वालों की पत्रकार के साथ बदसलुकी

नागौर, राजस्थान/भुरारामः भुराराम पुत्र ओम प्रकाश जाति जागीड़ मेड़ता रोड मेड़ता जिला नागौर समाचार पत्र जुल्म से जंग में न्यूज भेजने का काम करता हूं। तारिख 28.09.2016 रात 8 बजे पुलिस थाना मैड़ता रोड मे कुछ हंगामा हुआ तो मैं थाने में गया। कुछ देर खड़े रहने के बाद जब माहोल मारपीट मे बदल गया तो एएसआई जी सुरेंद्र मिणा और जगपाल ने भीड़ के साथ मुझे भी धक्के देकर हाथ में लाठी लेकर थाने के बाहर निकाल दिया। मुझे अपने कार्य से वंचित कर दिया। जबकि भारतीय संविधान कि धारा 19ए के तहत पत्रकार भीड़ का हिस्सा नहीं होते पत्रकारों के अधिकार का हनन किया गया है। इसलिए आपसे निवेदन हैक कि दोनों आरोपी पुलिसवालों पर सख्त से सख्त कार्यवाही करते हुए थाने मे इतला दी जाए कि भविष्य में कभी पत्रकारों के साथ दुवर््यवहार ना हो।

Share This Post

Post Comment