बढ़ती भ्रूण लिंग परीक्षण की रोक के लिए सोनोग्राफी मशीनों की जांच

सीकर, राजस्थान/नगर संवाददाताः राजस्थान के सीकर जिले में बुधवार को पीसीपीएनडीटी जयपुर और सीकर सेल की संयुक्‍त कार्रवाई की गई. बढ़ती भ्रूण लिंग परीक्षण की घटनाओं और पीसीपीएनडीटी सेल की दलालों की धरपकड़ के बाद अब चिकित्‍सा विभाग ने और भी जांच करने वालों पर सख्‍ती बढ़ा दी है. इसके चलते सीज और बंद पड़ी सोनोग्राफी मशीनों की जांच अभियान शुरू किया गया है.चिकित्‍सा विभाग ने इसके लिए विशेष जांच दल गठित कर पूरे राजस्‍थान में जांच अभियान शुरू किया है. हाल ही में सीकर से भ्रूण लिंग परीक्षण करने वाले दलालों का गिरोह पकड़े जाने के बाद चिकित्‍सा विभग ने पूरे राजस्‍थान मे सोनोग्राफी मशीनो की जांच शुरू की है. इस विशेष अभियान के तहत सोनोग्राफी मशीनें जो बंद और सीज हैं उन्‍हें विशेष तौर पर जांचा जा रहा है. इसी कड़ी के तहत पीसीपीएनडीटी सैल जयपुर और सीकर की टीम ने सीकर में कई सोनोग्राफी मशीनों की जांच की. ये वो मशीनें और सोनोग्राफी सेंटर है जो बंद हो चुके हैं. टीम का कहना है कि इन सेंटरों की जांच का मकसद है कि यहां पर जो सोनोग्राफी मशीन सीज है उनसे कहीं जांचें तो नहीं की जा रही है? इसी मकसद के चलते यह अभियान चलाया गया है. अभी तक छह सीज और बंद पड़े सोनोग्राफी सेंटरों की जांच की जा चुकी है. अभी और भी सेंटरों की जांच की जाएगी. विशेष निरीक्ष्‍ण दल में समुचित प्राधिकारी महेश कुमार और ललित कुमार, सीकर पीसीपीएनडीटी सेल के कोर्डिनेटर नंदलाल पूनिया शामिल थे.

Share This Post

Post Comment